शनिवार, 9 फ़रवरी 2013

स्‍वागत वसंत .. ब्‍लॉग4वार्ता .. संगीता पुरी

आप सबों को संगीता पुरी का नमस्‍कार , बॉलीवुड फिल्मों के चर्चित अभिनेता कादर खान की सेहत बिल्कुल ठीक है। उनका कहना है कि सोशल नेटवर्किंग साइटों पर उनके निधन की अफवाह फैलाए जाने से वह और उनका परिवार बहुत परेशान हैं। 77 वर्षीय अभिनेता ने गप्पबाजी के सौदागरों से अपील की है कि वे अफवाह फैलाना बंद करें। हास्य अभिनेता कादर खान ने कहा कि अफवाह से मेरा परिवार बहुत परेशान और चिंतित है। इन सब ने मेरे परिवार को हिलाकर रख दिया है। जिस किसी ने भी ऐसी अफवाह फैलाई हो, कृपया यह सब बंद करें। उन्होंने कहा कि एक दिन तो सब को जाना है और मैं आप सबकी दुआएं लेकर जाऊंगा। अभी मैं पूरी तरह ठीक हूं। ईश्‍वर से उनके अच्‍छे स्‍वास्‍थ्‍य की कामना करती हूं , अब देखते हैं ब्‍लॉग जगत की कुछ महत्‍वपूर्ण पोस्‍ट ........

स्वागत बसन्त... - *१* *स्वागत तेरा* *आँगन आँगन में* *मेरे बसन्त ...* *२* *पीली सरसों * *और लाल पलाश* *केशरिया मैं...* *३* *प्रीत उमगे* *उर में साजन के * *मैं शरमाउँ...* *४* *ब...उत्सव के परिणाम अपने नज़रिए से दें- कृपया उत्सव के परिणाम अपने नज़रिए से दें .......... शुभकामनायें बहुत मिलीं सुझाव भी चाहिए अपनी पसंद को जाहिर कीजिये एक वोट टिप्पणी से अधिक कारगर होगी ...एक दिन पुस्तक मेले के नाम …………2013 - दिल गुलशन गुलशन हो गया जब दोस्तों का साथ मिल गया किताबों से नाता जुड गया यूँ मन का कँवल खिल गया कल पुस्तक मेले के सफ़र में सबसे पहले अन्दर कदम रखते ही आन...पुस्तकें और पाठक - संवाद स्थापित करना प्राणी की अनिवार्य और महत्वपूर्ण आवश्यकता है. अगर हम यह कल्पना करें कि जब संवाद स्थापित करने के साधन नहीं थे तो जीवन कैसा रहा होगा ? स...

बीमारी - सुयश जॉगिंग करते हुए लगातार ऋचा के बारे में सोच रहा था. पिछले कुछ दिनों से वो बीमार सी दिख रही थी. हमेशा खिले-खिले चेहरे वाली तेज-तर्रार लड़की अचानक से निश...आठवा ख़त .......Valentine special.......... - कभी उगते सूरज को तुम्हारे साथ देखना चाहती हूँ...... तो कभी ढलती शाम को तुम संग गुजारना चाहती हूँ...... कभी रात का लम्बा सफ़र.......तुम्हारी गोद में सर रख कर...विदेशी शब्दों की बाढ़ - हमारे साहित्य के प्रत्येक युग में विदेशी शब्दों की एक बाढ़ सी हमारे यहाँ आई है। हमारा अपना युग भी इस का अपवाद नहीं है। और यह एक ऐसी चीज है जिस का जल्दी ...आज एक छोटा सा गीत- मिथ्याबोध ! -*कभी हमसे भी कोई बेरहमी न होती, * *ऐ अहबाब अगर तुम बहमी न होती। * * * *ये प्रेम कहानी अश्रु -पिपासा न होती,* *दिल में उलझी कोई दिलासा न होती, * *...


ग़ज़ल सम्राट स्व ॰ जगजीत सिंह साहब की जयंती पर विशेष - *जगमोहन सिंह (**जगजीत सिंह - *८ फ़रवरी १९४१ - १० अक्टूबर, २०११) का नाम बेहद लोकप्रिय ग़ज़ल गायकों में शुमार हैं। उनका संगीत अंत्यंत मधुर है, और उनकी आवाज़...फिल्‍म समीक्षा : एबीसीडी - [image: ABCD anybody can dance movie review]-अजय ब्रह्मात्मज एक डांसर क्या करता है? वह दर्शकों को अपनी अदाओं से इम्प्रेस करता है या अपनी भंगिमाओं से कुछ एक्...अनिरुद्ध उमट की नौ कविताएं - आज कई महीने बाद अपने उचाट सूनेपन में मेरे क़दम अब तक स्‍थगित रखे गए फेसबुक की ओर बढ़ गए और वहां वो मिला, जिसकी मुझे कुछ सुकून दिया। वहां अपने स्‍टेटस में ...मन - 1. स्वार्थी मन तोड़ देता सम्बन्ध जानबूझकर ........ 2. व्याकुल मन निस्तब्ध निशा आत्मविस्मृति के क्षण ...... 3. युगों की भटकन मन क... "बांछैं" शब्द का अर्थ पूछियेगा तो अच्छे अच्छों के होश उड़ जाते हैं . अर्थ तो हमको भी नहीं मालूम हमारे मित्र मनीष शर्मा भी नहीं जानते कि बाछैं शरीर के किस भाग में पाई जातीं हैं. पर इस बात से सहमत नज़र आते हैं कि बाछैं खिलती अवश्य हैं. यानी कि जब वो नहीं जानते तो किसी और के जानने का सवाल ही नहीं खड़ा होता .

कारोबार की तरह धर्म की भी होती है मार्केटिंग -श्रीगंगानगर-जमाना मार्केटिंग का है। किसी भी कारोबार की मार्केटिंग के बिना कल्पना भी नहीं की जा सकती। अब तो रिश्तों की भी मार्केटिंग होने लगी है...वो फलां...निरुद्देश्य - सुरेन्द्रनाथ झा गुडगाँव में ३०० गज के एक प्लाट में बंगला बनाकर रह रहे हैं. वे देश के एक नामी कपड़ा उद्योग के स्पेशल डाइरेक्टर के पद से करीब दस साल पहले रि...-'Lower drinking age leads to binge drinking later - सेहतनामा (1) नियमित दोनों समय पर भोजन (दोपहर और रात का )और सुबह का नास्ता करें .जो लोग कभी दोपहर का भोजन नहीं करते कभी रात का वह अपने लिए सिरदर्द ...देश की पुकार है, बचाओ बेटियां -*हरेश कुमार* देश की पुकार है ये बचाओ बेटियां। गर्भ से लेकर, हर जगह, क्यों मारी जाती हैं बेटियां। हैं, बेटियां पुकारती। क्यों हो रहा ये अत्याचार। ...

Goa- Last trekking point at Tambdisurla ancient Temple, गोवा ट्रेकिंग समापन स्थल एक प्राचीन महादेव मन्दिर। - गोवा यात्रा-20 नदी किनारे वाले बारा भूमि मन्दिर से यह ताम्बडी सुरला नाम का शिव मन्दिर लगभग चार किमी दूरी पर है। एक घन्टे में हमने यह दूरी आसानी से तय कर ली ...निठल्लाई माने सदा सप्ताहांत -सप्ताहांत याने संडे का दूनिया को बड़ी बेसब्री से इंतजार रहता है। शनिवार से ही सप्ताहांत मनाने की तैयारी शुरु हो जाती हैं। पश्चिमी देश चाहे नाच-गा कर मस्ती...वीआईपी सुरक्षा और जनता ?- देश में जिस तरह से सामान्य प्रशासनिक कार्यों में मूर्छा की स्थिति उत्पन्न होती जा रही है वह कहीं न कहीं से देश के लिए...जवाब रखे थे - - शायद अब सांप बनने लगे हैं फूल, वरना हमने जेब में गुलाब रखे थे - कमाल है पढ़े जाने लगे हैं धर्म-ग्रन्थ वरना जेलों में तो कसाब रखे थे - मशगुल थ...

अब दीजिए इजाजत .. मिलते हैं एक ब्रेक के बाद ......

10 टिप्पणियाँ:

सुंदर वार्ता के लिए संगीता जी ,,,बधाई

RECENT POST: रिश्वत लिए वगैर...

बहुत सुन्दर... वसंती वार्ता के लिए आपका आभार

बढिया वार्ता
अच्छे लिंक्स

बढ़िया लिनक्स और वार्ता |कुछ लिनक्स ने तो पूरा ही वासंती रंग में रंग दिया है |
आशा

अच्छी वार्ता ... बहुत से लिंक्स मिले ।

http://dcgpthravikar.blogspot.in/
http://neemnimbouri.blogspot.in/
http://rhytooraz.blogspot.in/
http://terahsatrah.blogspot.in/
http://dineshkidillagi.blogspot.in/

ब्लोगोदय का मोनोग्राम लगाये वर्ष हो गया -
पर यहाँ ये ब्लॉग ढूंढ़ न पाया-
इनमे से दो ब्लॉग गूगल रैंक का १ अंक प्राप्त कर चुके हैं-
कहीं रविकर ब्लैक लिस्टेड तो नहीं-
सादर

ब्लागोदय में कैसे शामिल होया जा सकता है ? कृपया सहयोग कीजिएगा। सादर..

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी में किसी भी तरह का लिंक न लगाएं।
लिंक लगाने पर आपकी टिप्पणी हटा दी जाएगी।

Twitter Delicious Facebook Digg Stumbleupon Favorites More