शनिवार, 13 अप्रैल 2013

कबहुँ नैन हँसे, कबहुँ नैन बीच कजरा... ब्लॉग 4 वार्ता... संध्या शर्मा

संध्या शर्मा का नमस्कार..आ जाए जब जीना और मरना जीवन के प्रत्येक पल में, हर आती जाती श्वास दे अहसास मृत्यु और पुनर्जन्म का, पहचान लें अपनी कमियाँ निरपेक्ष भाव से जो मिटा दे कलुष अंतर्मन का, देखें केवल द्रष्टा भाव से सभी अच्छे और बुरे कर्मों को, बिना किसी पूर्वाग्रह के झांकें दूसरों के अंतर्मन में और कर पायें तादात्म्य आत्मा से, लगती है सहज तब मृत्यु भी जीवन में घटित घटनाओं की तरह, नहीं होता अनुभूत कोई अंतर तब जीवन और मृत्यु में. ...लीजिये प्रस्तुत है, आज की वार्ता ........

Diamonds are forever!! - कभी-कभी हमको अपना ऊपर बहुत गोस्सा आता है कि जहाँ पढा-लिखा लोग-बाग, अपना बात कहने के लिये गीता-पुरान, उपनिसद अऊर ग्रंथ का उदाहरन देता है मील का पत्थर - वनिता अप्रेल अंक में मेरी कहानी "परछाइयों के उजाले"...केहि विधि प्यार जताऊं ..........."  कबहुँ आप हँसे , कबहुँ नैन हँसे , कबहुँ नैन के बीच , हँसे कजरा । कबहुँ टिकुली सजै , कबहुँ बेनी सजै , कबहुँ बेनी के बीच , सजै गजरा । कबहुँ चहक उठै , कबहुँ महक उठै , लगै खेलत जैसे, बिजुरी औ बदरा । कबहुँ कसम धरें , कबहुँ कसम धरावै ...

बैठ मेरे पास तुझे देखता रहूँ ………… - सोचती हूँ कभी - कभी ना जाने क्यों छोडा उसने क्या कमी थी? खुद की तो पसन्द थी रूप रंग पर तो जैसे भोर की उजास छलकती थी आईने भी शर्माते थे जब रूप लावण्य दमकता ...  गीत - मैं यह भी तो न जान सकी मुझ पर बहार कब आई है, कब कोमल कलियाँ चटक गयी; कब लाज़ की लाली धाई है। कब मेरा वह भोला बचपन इस रंगमंच से विदा हुआ, कब चंचल चितवन चुंगल... राधे राधे तेरे दर्शन को हम हैं प्यासे - राधे राधे तेरे दर्शन को हम हैं प्यासे जल्दी आ मन उपवन मे ………नैना भये उदासेसाथ मे मोहन को भी लाना हिल मिल फिर बंसी बजाना करो कलोल मिल बांके राधे राधे तेरे..

खाली दिमाग शैतान का घर ! - इन दिनों वत्सल के पास मैसूर आई हुई हूँ ... कहते है खाली दिमाग शैतान का घर होता है :-) --- खुद को काम में इतना झौंक दो की दिमाग कभी खाली ही न रहे , साथ ही ... ऐसे हमारे हाल कब थे ! - अधिक व्यस्तता की वजह से क्षमा सहित ये टुच्ची सी गजल प्रस्तुत है :) :- *श्रीमती तुम्हारे सोचने को, ऐसे हमारे हाल कब थे,* * ...देवी भक्तों ने जमकर उड़ाया नानवेज ! - देवी के भक्तों ने कल यानि 10 अप्रैल की रात को जमकर उड़ाया नानवेज ! वैसे तो मैं नवरात्र में पूरे नौ दिन व्रत ना करके पहले और आखिरी दिन ही व्रत करता हूं, ... 

सुचना माध्यमों (media ) का नमो नम: और रागा गान !! - आजकल सुचना माध्यमों में जिस बात पर सबसे ज्यादा चर्चा हो रही है वो नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी के प्रधानमंत्री उम्मीदवार बनने को लेकर है ! .... जरूर लौटेगी गौरैया: जनसत्ता में ‘आरोहण’ - 12 अप्रैल 2013 को जनसत्ता के नियमित स्तंभ ‘समांतर’ में आरोहण गौरेया का The post जरूर लौटेगी गौरैया: जनसत्ता में ‘आरोहण’...सदीप भाई, पोपट और ब्लॉगर्स...खुशदीप - रात को इंटरनेट पर बैठा तो कल की मेरी पोस्ट के लिए स्पैम में ये दो टिप्पणियां दिखीं...टिप्पणियां करने वाले दोनों सज्जनों का प्रोफ़ाइल नहीं मिला...ना डॉ संत... 

सोलह दिन गणगौर के .... - इन दिनों गणगौर त्यौहार की तैयारियां चरमोत्कर्ष पर है . आज *सिंजारा* है , सुहागिनें हाथों में मेहंदी रचाएंगी , झुण्ड के झुण्ड पनघट /बावड़ी /तालाब से गीत ...  .रामजी कब आओगे? - फिर से करने तुम राज, रामजी कब आओगे? है पूजित रावण आज, रामजी कब आओगे? निज कर्मों से सिखलाया, नारी का मान बढ़ाया लुटती सीता की लाज, रामजी कब आओगे? ... अमन के लिए. - * *** ** अमन के लिए. खुशी मिलती यहाँ एक पल के लिए, बचा के कर रख प्यारे कल के लिए ! रेत के जैसा फिसलता हुआ वक़्त है , मत गँवाना कपट और छल के लिए !...

 इन दिनों....... - इन दिनों, सांझ ढले,आसमान से परिंदों का जाना और तारों का आना अच्छा नहीं लगता गति से स्थिर हो जाना सा अच्छा नहीं लगता....आक्रांत हूँ ... - विभिन्न विधियों से चलती रहती है मेरी चरित्र-योजना ... मैं अपनी अस्मिता को निजता तथा विशिष्टा के लचीले अनुपातों को घटा-बढ़ा कर समायोजित करती रहती हूँ ...मेरा मानवीय कद - चैतन्य तुम बड़े हो रहे हो सीख गए हो जूते के फीते बांधना साथ ही अपनी बातों को साधना आ गयी है तुम्हें मन की कहने, मोह लेने की अद्भुत कला जुटा लेते हो कितनी..





दीजिये इजाज़त नमस्कार.......

16 टिप्पणियाँ:

बहुत -बहुत सुन्दर प्रस्तुति

बढिया वार्ता, आभार संध्या जी

बहुत बढ़िया लिनक्स... शामिल करने का आभार

शीर्षक में स्थान देकर शीर्ष पर होने का भान कराने के लिए बहुत बहुत आभार । अन्य सभी पोस्ट भी अत्यंत उत्कृष्ट ।

शानदार वार्ता, सभी लिंक्स एक से बढकर एक

बहुत बढ़िया उम्दा लिंक सजोये संध्या जी ,मेरी रचना को ब्लॉग वार्ता में शामिल करने के लिए आभार

बहुत अच्छी रही वार्ता !

बढ़िया सूत्र हैं |
आशा

बहुत सुन्दर चर्चा ...

बहुत सुंदर प्रस्‍तुति.

सुंदर रचना !
मेरे ब्लॉग को भी सामिल करे मेरा ब्लॉग तकनिकी को समर्पित हे मेरे ब्लॉग का पता हे

http://hiteshnetandpctips.blogspot.com/

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी में किसी भी तरह का लिंक न लगाएं।
लिंक लगाने पर आपकी टिप्पणी हटा दी जाएगी।

Twitter Delicious Facebook Digg Stumbleupon Favorites More