सोमवार, 27 जून 2011

पुराने टोटके काम नहीं आ रहे हैं ? क्या करें ? :गिरीश बिल्लोरे मुकुल


कार्यालय ब्लाग4वार्ता, हिन्दी ब्लाग अनुभाग 

क्रमांक/ 402/गिरीशमुकुल/2011                                      जबलपुर : 27.06.2011
प्रति
1.  समस्त वरिष्ठ,मंझौले,कनिष्ठ,चिट्ठाकार
2.  नये-नवेले, जूने-अलबेले, चिट्ठाकार

    विषय :- ब्लाग4वार्ता   को मिले सवालों के जवाब 
                        ब्लाग4वार्ता को मिली अति गोपनीय किंतु ब्लागहित में ओपनीय जानकारीयों  खुलासा निम्नानुसार किया जा रहा है:-   

  1.     सम्मान-पुरस्कार, मिलने पर कुछेक ब्लागर्स को सम्मान पाने वालों पर मितली आई कई आई०सी० यू० में कई दिनों से भर्ती हैं, कईयों की नाड़ी नहीं मिल रही, कई देशाटन को जाना चाह रहे हैं पर गाड़ी नहीं मिल रही.कई ने खुद को इतना बिखेर लिया कि बटोरने को तगाड़ी नहीं मिल रही.
  2.    हताश ब्लागर की ओर से  एक सवाल आया कि आपके ब्लाग का ट्रैफ़िक अचानक कैसे बढ़ा ? पुराने टोटके काम नहीं आ रहे हैं ? क्या करें ? उत्तरदाता ने उत्तर दिया :- "विषयाधारित ब्लागिंग को बढ़ावा दीजिये..निंदा,यौन,गाली-गलौच,सियासत आदि विषयों पर आलेखन कीजिये दिन दूना रात चौगुना ट्रैफ़िक लीजिये"
  3.     कुल मिला कर अंतिम और बेहतरीन सलाह ये है कि हज़ूर उम्दा लिखिये, अच्छा सटीक और संसदीय लिखिये टांग मत खींचिये किसी की वरना किसी दिन कोई आपकी खैंच लेगा तो ...
  4.     ऊपर  जो लिखा उसमें लिंक देना ज़रूरी नहीं जिनके लिये लिखा है खुद खोज लेंगे आप तो ये देखिये जो आज़ के ताजा लिंक हैं 




  •      पाबला जी पूछ रहे हैं

  •      गिरीश पंकज का   सवाल
   सामंतीप्रवृत्तिवाले अफसरों का क्या किया जाए..






13 टिप्पणियाँ:

कुल मिला कर अंतिम और बेहतरीन सलाह ये है कि हज़ूर उम्दा लिखिये,
यह है काम की सलाह ,धन्यवाद

बढिया जानकारी मिली
आभार

उत्साहित करनेवाली सलाह |

अच्‍छे लिंक्स ..

दो दिन बाद नेट पर आयी हूं ..

अब जाती हूं एक एक कर सारे लिंक्स पर ..

आभार !!

पत्राचार मजेदार है

अच्‍छे लिंक्स ..

ये भी अच्छी रही :)

टोटके नए हों या पुराने कभी काम नहीं करते |मनको समझाने के लिए ही प्रयोग में लाए जाते है |
अच्छी रही वार्ता |बधाई गिरीश जी |
आशा

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी में किसी भी तरह का लिंक न लगाएं।
लिंक लगाने पर आपकी टिप्पणी हटा दी जाएगी।

Twitter Delicious Facebook Digg Stumbleupon Favorites More