शनिवार, 3 सितंबर 2011

कठपुतरी कस हे जिनगानी का ऐती का ओती ---ब्लॉग4वार्ता--ललित शर्मा

ललित शर्मा का नमस्कार,  देश भर में जैन धर्मावलम्बियों ने पर्युषण पर्व मनाया6, क्षमा दिवस के रूप में. मेरे भी मोबाइल पे कुछ मैसेज आये. क्षमा याचना एवं  क्षमा करने से व्यक्ति के मन के मन के कलुष धुल जाते हैं. निर्मल मन के साथ नयी सुबह होती है और जीवन की गाड़ी फिर दैनिक दिनचर्या की और चल पड़ती है. अब हम भी चलते हैं आज की ब्लॉग4वार्ता पर कुछ सुन्दर से चिट्ठों के साथ..........सबो धरम के एके कहना जइसे राखे रहना जी ,जभे तलक हे सांस के डोरी जीयत जाव सोंचव झन।कठपुतरी कस हे जिनगानी का ऐती का ओती जी,सोच-सोंच के अधिया जाबे जीयत जाव सोचव झन।नाचत भर ले नाच ले प्रानी अउ दउड़त भर दउड़ जी,कभू दुरिहा कभू लकठा जीयत जाव सोंचव झन।

सबसे पहले चर्चा करते हैं ३६ गढ़ के चिट्ठों के संकलक हमर छत्तीसगढ़ की.यहाँ ३६ गढ़ के चिट्ठाकारों के चिट्ठों की नियमित फीड मिलती है,आज हम कुछ चिट्ठे यहाँ से ले रहे हैं वार्ता के लिए. उलट दिए प्रकृति के नियम - *कृत्रिम कोशिकाओं के ज़रिए धरती पर इंसान बनाने का सपना, अंडे और मुर्गी की गुत्थी सुलझाने का दावा या फिर बूढ़े चूहों को जवान कर दिखाने का कमाल. साल 2010 में...भारतीय शिक्षा में खामियों की बढ़ती खाई - यह तो सही है कि भारत में न पहले प्रतिभाओं की कमी रही और न ही अब है। पुरातन समय से ही यहां की शिक्षा व्यवस्था की अपनी एक साख रही है। कहा भी जाता है, जब शून्...धूम्रवर्णावतारश्चाभिमानासुरनाशक: - *धूम्रवर्णावतारश्चाभिमानासुरनाशक:* सूतजी बोले - 'हे मुने! मैंने तुम्हें भगवान् विघ्नराज का श्रेष्ठ वृतान्त सुना दिया है। अब तुम्हें उनके धूम्रवर्ण स्वरूप क...

सांप्रदायि‍क समभाव पर गीतों के साथ कुछ बातें - ईद, तीज और गणेश चतुर्थी का अनोखा संगम...... ईद और तीज का त्‍योहार एक ही दि‍न 1432 सालों बाद 30 अगस्‍त 2011 को पड़ा..... इस अवसर पर सांप्रद...मतलबी है अन्ना !! - भ्रष्टाचार के मुद्दे पर आंदोलन करने वाले वाले अन्ना हजारे, अब अपने ही सहयोगियों को भुला रहे हैं। उनके आंदोलन के दौरान सैकड़ों लोगों ने अनशन किया, यही नही...कौन किसके लिए खतरनाक ? - कुछ लोग बुद्धिमान होने के कारण पुरस्कृत होते है तो कुछ लोग पुरस्कृत होने के बाद बुद्धिमान बनते हैं और अपनी बुद्धि से दुन...गणेश वंदना ..... - *-जनकवि कोदूराम "दलित"* * *जय -जय गणेश महाराजा मुसवा में चढ़ के आजा जय गणपति फरसाधारी कर दूर हमर बेकारी मैं तोला चढ़ाहूँ पानी तैं मोला बना दे ज्ञानी...



मन का दीप जला कर देख........ - **** *मुझको तू अपना कर देख* *प्रेम-पनीरी खा कर देख* *हर दुआ होगी कबूल* *बस ! दोनों हाथ उठा कर देख.* *मन में क्या है खटक रहा* *यहाँ-वहाँ क्यों भटक रहा* *‘ना.. .लिटिल लिटिया - गौरैया के बाद पंडुक, फिर पंडुक-पंडुक, और अब लिटिया। आकार से लगता है कि अंग्रेजी के लिटिल और लिटिया नामधारी इस छोटी सी चिडि़या का कोई रिश्‍ता जरूर होगा। लिट..पंछी उड़ जाना कफ़न बढा तो किसलिए नजर तू डबडबा गई, सिंगार क्यों सहम गया बहार क्यूँ लजा गई. न जन्म न मृत्यु बस इतनी सी बात है, किसी की आँख खुल गई किसी को नींद आ गई मृत्...उपाधि मिलने की वाहवाही - ‘उपाधि’ देने की परिपाटी बरसों से है। बदलते समय के साथ यह परिपाटी अब पूरे रंग में है। पहले आप कुछ नहीं होते हैं। उपाधि मिलते ही आप रातों-रात उपलब्धि की सभी ...


उमड़त घुमड़त विचार  *ॐ श्री गणेशाय नमः * *वक्रतुंड महाकाय कोटिसूर्यसमप्रभ । * *निर्विघ्नं कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा *॥ "आप सभी को गणेश-चतुर्थी की बहुत बहुत शुभकामनाएं " डॉ अमर कुमार की याद - वैसे आज डॉ अमर कुमार का जन्मदिन था। मुझे रह-रह कर याद आ रही थी उनकी वह टिप्पणी जो उन्होंने अपने पिछले जनमदिन वाली पोस्ट पर की थी बड्डी गॅल्त बात है, पाबला...  नई ग़ज़ल / जुबां खामोश रहती है इशारे बोल उठते हैं..... - *जुबां खामोश रहती है इशारे बोल उठते हैं* *हम अक्सर बस इसी के ही सहारे बोल **उठते ** हैं* * * *रखोगे कब तलक बंदिश में सच को पूछता हूँ मैं* *हमारे होंठ तो ये ब...लोकपाल से क्या सुधरेगी व्यवस्था - अन्ना हजारे के सत्याग्रह ने जो अभूतपूर्व सफलता पाई है। वह अपने आप में एक इतिहास बन गया है। समूचे भारत में गांवों से लेकर शहरों में जो शंखनाद हुआ है. वह आशा...


न वैसे सिंहासन रहे न वैसे आरूढ़ होने वाले - ऐसा तो नहीं कि गलत इंसान के गलत तरीके से सत्ता हथिया कर किए जाने वाले गलत कार्यों को उस आसन का श्राप मिलता हो कि जा निकट भविष्य में तेरा नाश अवश्यंभावी है?...दुनिया गोल है - दुनिया गोल है एक रोज़ जब लेटा था हर रोज़ की तरह बगीचे में हवा का झोंका उड़ा लाया मेरे पास पास ही के पेड़ के एक फ़ूल को फ़ूल को मैंने देखा था, पहले भी उस ब...रामू बाबा का अनशन - रामू बाबा का अनशन बाबा रामू को कहीं से पता चला कि दवे जी नाम के एक फ़ोकट चंद लेखक मुफ़्त में सलाह देते हैं, सो वे हमारे पास चले आये। बाबा से हमने पूछा -"राम...बधाई ***************** *"ईद - चतुर्थी हर्ष के, गीतों का संचार.* *बरसे बरखा नेह की, पावन हो संसार* *पावन हो संसार, प्रफुल्लित सांझ - सकारे * *लिए ईद का चाँ... 

एक दिन ले दुय दिन … Ek Din Le Duy Din - हल्बी जनभाषा में गाये जाने वाले ‘तीजा जगार’ का आयोजन ‘अमुस तिहार’1 के बाद आरम्भ हो जाता है, जो भादों महिने के शुक्ल पक्ष तृतीया तक चलता है और चतुर्थी तिथि ...को आब्लाईज़ करना जरूरी है - राज्यपालों की भूमिका एक बार फ़िर चर्चा में है।चाहे कर्नाटक हो या गुज़रात,या फ़िर और कोई राज्य,राज्यपालों के फ़ैसले राजनैतिक विवादो का कारण बनते जा रहे हैं।... अलंकृत होकर खिले चेहरे - *0 खेल दिवस पर राज्य खेल पुरस्कार से अलंकृत हुए 21 खिलाड़ी 0 मुख्यमंत्री ने खिलाड़ियों को शहीद राजीव पांडे, शहीद कौशल यादव, वीर हनुमान सिंह, शहीद विनोद चौबे...बस्तर रेल खंड की मांग अब सीधे तौर पर उठी - अब जा कर यह मांग बस्तर के लोगों की तरफ से सीधे और स्पष्ट तौर पर उठी है कि बस्तर रेल खंड को ईस्ट कोस्ट रेल से अलगा कर दक्षिण पूर्व मध्य रेल ज़ोन के अंतर्गत...






आज जगमोहन कोकास की पुण्यतिथि है .... - अपनी युवावस्था में जगमोहन कोकास आज मेरे पिता जगमोहन कोकास की पुण्यतिथि है । आठ वर्ष पूर्व 28 अगस्त 2003 को उन्होंने इस संसार से विदा ली थी । जगमोहन कोकास क...अगर अन्ना को गुस्सा आया तो......... - क्या हो अगर अन्ना हजारे को गुस्सा आ जाए ? जी अभी तक अहिंसा का रास्ता अन्ना जी ने छोड़ा नहीं है पर कुछ तकनीकी लोगो ने अपनी भड़ास निकालने का नया तरीका निकाल ...संसद एक बाजार - भैया संसद बाजार में दुकानें लग गई, एतिहासिक बाजार था। पूरे देश की टकटकी लगी थी। तो कौन है जो अपना माल कम बेचने पर राजी हो। हो गए शुरू इकतरफा। सुषमा ने बेचा...शेष समय इतना करना प्रिय... - शेष समय इतना करना प्रिय। सपनों का आकाश बड़ा था, आँखों मुक्ताहार जड़ा था, चुन-चुन मोती बड़े जतन से संग-संग हाथों महल गढ़ा था, स्वप्न नहीं अब एक कहानी बन मे...
वार्ता को देते हैं, विराम, मिलते हैं ब्रेक के बाद, राम राम ...............................

4 टिप्पणियाँ:

अच्छी रही सटीक वार्ता |
आशा

सुंदर रही चर्चा,आभार.

पंडित जी, राम राम आज आपकी चर्चा से ३ लिंक चुरा रहा हूँ....

आभार..

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी में किसी भी तरह का लिंक न लगाएं।
लिंक लगाने पर आपकी टिप्पणी हटा दी जाएगी।

Twitter Delicious Facebook Digg Stumbleupon Favorites More