सोमवार, 22 नवंबर 2010

आप भी कहिये "तेरी माँ की..." संस्कृति की रक्षा तो कोई भी कर लेगा - पॉलिटिकली करेक्ट दिखने की मजबूरी - ब्लॉग 4 वार्ता - शिवम् मिश्रा

प्रिय ब्लॉगर मित्रो ,
प्रणाम !

घोटाला..घोटाला.. घोटाला. होते, सुनते और देखते शायद भारतीय जनमानस अकुला गया है। भ्रष्टाचार को लेकर अब इनका गुस्सा फूट पड़ा है। संसद से लेकर सड़क तक जनता के इस आक्रोश को स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है। अब इसके विरोध में आनलाइन भी मोर्चा खुल चुका है। आइ पेड अ ब्राइब डाट काम नामक वेबसाइट पर जाकर कोई भी व्यक्ति खुद से घूस मांगे जाने या भ्रष्टाचार से जुड़े किसी अनुभव को साझा कर सकता है। हजारों लोग अब तक इस वेबसाइट से जुड़कर अपने अनुभव साझा कर चुके हैं। इनके संदेशों से भ्रष्टाचार के प्रति अवाम में खीझ और इस समस्या की गहराई का सहज अंदाजा लगाया जा सकता है।
राष्ट्रमंडल खेल घोटाला, आदर्श सोसायटी घोटाला, 2 जी स्पेक्ट्रम घोटाला और न जाने कितने। यह तो हालिया मामले हैं। देश में घोटालों की फेहरिस्त बहुत लंबी है। आलम यह है कि अब भ्रष्टाचार लोगों के रोजाना की जिंदगी में महसूस किया जा सकता है चाहे वह बिजली-पानी कनेक्शन लेने की बात हो या बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र हासिल करना हो। इस समस्या को मुंहतोड़ जवाब देने का बेंगलूर की एक गैर लाभकारी संस्था 'जनाग्रह' ने बीड़ा उठाया। इस साल अगस्त में इस संस्था ने आइ पेड अ ब्राइब [आइपीएबी] नाम से एक वेबसाइट शुरू की। इस वेबसाइट पर भ्रष्टाचार से संबंधित लोगों के कड़वे अनुभवों को साझा करने की भी व्यवस्था है। इस वेबसाइट से जुड़े दो हजार से ज्यादा लोगों के अनुभव इस समस्या की गहराई का सहज आभास कराते हैं। एक व्यक्ति ने अपनी व्यथा में लिखा है कि आयकर विभाग का एक अधिकारी उनसे तीस हजार रुपये की रिश्वत मांग रहा है। रिश्वत न देने की स्थिति में अधिकारियों द्वारा उत्पीड़न की धमकी दे रहा है। एक रेस्टोरेंट के मालिक ने शराब के लाइसेंस के लिए दो लाख नब्बे हजार रुपये रिश्वत की बात लिखी है। हालांकि सबसे चौंकाने वाला मामला एक डॉक्टर से जुड़ा है। कार्डियो शल्य चिकित्सक यह डॉक्टर एक सार्वजनिक वित्त पोषित अस्पताल से जुड़े हैं। एक मरीज के ऑपरेशन के लिए ये दस हजार रुपये रिश्वत मांग रहे हैं।
इसी साल फरवरी में पांचवां खंबा नामक एक समूह ने शून्य रुपये की कीमत के नोटों को छापकर लोगों में वितरित किया। साथ में यह सलाह भी दी कि जब कभी किसी भ्रष्ट बाबू से उनका पाला पड़े तो यह बतौर रिश्वत उसे दे दें। गुजरात में भारतीय प्रबंध संस्थान, अहमदाबाद के छात्रों ने तो भ्रष्टाचार के खिलाफ एक खास तरकीब निकाल ली है। दफ्तरों में होने वाले भ्रष्टाचार से पीड़ित नागरिकों के लिए इन छात्रों ने एक टोल फ्री हेल्पलाइन का गठन कर डाला है।

ब्लॉग 4 वार्ता  के इस मंच पर यह तो हो गई साहब जानकारी की बात अब चलते है आज की ब्लॉग वार्ता की ओर ....


सादर आपका

शिवम् मिश्रा 

-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

ब्लागर्स से......मनुज प्रकृति से शाकाहारी (संडे ज्ञान) :- या अंडे ज्ञान ?


अब जांच-पड़ताल की चूहेदानी :- जिस में दोनों ओर से रास्ता खुला है !


मैंने आजतक कितनी रिश्वत दी उसका हिसाब (जितना याद आया) :- थोडा और सोच लो महाराज !


गुमशुदा कैडेट :- ड्यूटी पर हाज़िर श्रीमान !


व्यंग्य - "कवि सम्मलेन का जायजा " और "कविता बनाने की रेसिपी".... :- वाह !!


....और विवाह हो गया मेरीवाली ‘इस लड़की’ का :-  पर हुआ किस से !!


और जय शादी-शुदा मर्दों की..... -देव :- जय हो !!


मीडिया की मौत पर शोक :- कौन मनायेगा ?


तिनका ही था कमज़ोर सा, उसका मुक़द्दर, देखना ... :- हम्म !


आप भी कहिये "तेरी माँ की..." संस्कृति की रक्षा तो कोई भी कर लेगा :- सही है !


आओ लिखो--- बढ़िया...लाजवाब....खूबसूरत ....पंक्तियाँ....(हा हा हा..) :- आप लिखो हम पढेगे !


पॉलिटिकली करेक्ट दिखने की मजबूरी...खुशदीप :- हम सब की है !


शोध का सोच और आत्मनिर्भरता पर प्रभाव - भाग ३ :- क्या होता है ?


मां तेरे जाने के बाद ......फ़िर अगले जनम का इंतज़ार है मुझे ... :- पर माँ तो अब भी आपके साथ है !


भारत में प्रथम महिला (First Woman in India) :- कौन कहाँ कैसे ?


एक मुलाक़ात प्रसिद्ध गीतकार सोम ठाकुर से - हरि शर्मा :- आभार !





-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

प्राप्त सूचनाओ के अनुसार आज दिनांक २१ / ११/ २०१० की शाम अचानक ही हाई बी पी के कारण तबियत ख़राब होने की वजह से हम सब के चहेते पाबला जी को हॉस्पिटल में दाखिल करवाना पड़ा !  उपचार के लगभग २ घंटो के बाद डाक्टर ने उनको घर जाने की इज़ाज़त दे दी  !!

हम तो बस यही कह सकते है .......

PABALA JI ..... GET WELL SOON .....WE LOVE YOU !!!

-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
आज की ब्लॉग वार्ता बस यहीं तक ..... अगली बार फिर मिलता हूँ एक और ब्लॉग वार्ता के साथ तब तक के लिए ......

जय हिंद !!

12 टिप्पणियाँ:

इस साइट की जानकारी देने के लिए शुक्रिया। भ्रष्टाचार के खिलाफ इस तरह के प्रयास सराहनीय और प्रशंसनीय हैं। लिँक्स भी अच्छे दिए हैं।

बहुत ही बढ़िया लिंक्स दिए आपने, इनमें से कुछ को तो पढ़ चूका हूँ, समय मिलते ही बाकी भी पढने की कोशिश करता हूँ.

प्रेमरस.कॉम

एक बढ़िया साईट की जानकारी देने के लिये बहुत शुक्रिया ।

कृपया इसका लिंक भी दे दें तो पाठकों को साईट पर जाने में सुविधा होगी।

बहुत अच्छी वार्ता ...नयी साईट की जानकारी मिली ....पाबला जी जल्दी ही स्वस्थ हों ..शुभकामनायें

अच्छी वार्ता ...बढ़िया लिंक्स दिए आपने ... पाबला जी .. स्वस्थ हों ...शुभकामनायें ...

बहुत अच्छी वार्ता .पाबला जी को जल्दी ही स्वस्थ होने की ढेरों शुभकामनाये.

अच्छी वार्त्ता.. अच्छे लिंक्स!! पाबला जी को अपने स्वास्थ्य की ओर भी ध्यान देना चाहिये... ईश्वर उन्हें स्वास्थ्य लाभ प्रदान करे!!

आप सब का बहुत बहुत आभार !

पाबला जी जल्दी स्वस्थ हों,

अच्छी वार्त्ता सराहनीय और प्रशंसनीय लिंक्स ..... आभार
पाबला जी को जल्दी ही स्वस्थ होने की शुभकामनाये...

बहुत अच्छी वार्ता ...

बहुत ही बढ़िया लिंक्स दिए आपने !बहुत अच्छी वार्ता !

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी में किसी भी तरह का लिंक न लगाएं।
लिंक लगाने पर आपकी टिप्पणी हटा दी जाएगी।

Twitter Delicious Facebook Digg Stumbleupon Favorites More