रविवार, 14 नवंबर 2010

दो सुन्दरीयों के साथ---गोकुल जैसा गाँव नहीं---ब्लॉग4वार्ता ----- ललित शर्मा

नमस्कार मित्रों, नवम्बर माह की हमारी अंतिम ब्लाग4वार्ता है, इसके बाद हमारी यायावरी शुरु हो रही है, उत्तर भारत से लेकर दक्षिण भारत के अंतिम छोर तक। कुछ समय ट्रेन में गुजारेंगे और कुछ समय हवा में, ब्लागर बंधुओ एवं भगिनियों और हमारे पुराने मित्रों से मिलेगें। बड़ा आनंद आएगा, कई महीनों के बाद यात्रा में जाना हो रहा है। एक समय तो जीवन में यह भी था कि एक जगह से दुसरी जगह ही भ्रमण करते रहते थे। अभी कुछ महीनों से विराम लग गया था। आपके सामने फ़िर होगें कुछ दिनों के बाद नए अनुभवों के साथ। कल से वार्ता मंच हमारे अन्य साथियों के हवाले है। आपको नित्य ही वार्ता पढने मिलेगी , अब चलते हैं ब्लॉग4वार्ता पर.......

इंटरनेशनल हिन्‍दी ब्‍लॉगर सम्‍मेलन में ब्‍लॉगर अपने हथियारों के साथ पहुंचें अपने हथियार साथ लाएंजी हां समीर लाल जी होंगे वहां आज पहुंच रहे हैं आप जहां उड़नतश्‍तरी उनका ब्‍लॉग है उसमें रचनात्‍मकता से लबालब आग है आयेंगे खूब सारे ब्‍लॉगिंग के सितारे राजधानी में पधारे आप दिल्‍ल...सबसे पहले चलते हैं नुक्कड़ पर जहाँ ब्लागर मीट के चर्चे हैं दिल्‍ली के इंटरनेशनल ब्‍लॉगर सम्‍मेलन में हथियार ले जाना मना नहीं है.ब्‍लॉगिंग के हथियार चार पहला उत्‍तम विचार, दूसरा कैमरा डिजीटल या मोबाइल हो एक मोबाइल फोन साथ हो साथ में हो लैपटॉप इंटरनेट से सराबोर हो सब इसी का है प्रताप...
 
ताऊ पहेली - 100प्रिय बहणों और भाईयों, भतिजो और भतीजियों सबको शनीवार सबेरे की घणी राम राम. ताऊ पहेली के इस *शतकीय अंक* में मैं ताऊ रामपुरिया, सह आयोजक सु. अल्पना वर्माके साथ आपका हार्दिक स्वागत करता हूं. आप सभी के सहयोग .लेट थे डाला छठ के सूरजलगता है रात देर से सोये थे। मेरी तरह नींद की गोली गटक कर। देर हो गयी उठने में सूरज देव को। घाट पर भीड़ को मजे से इन्तजार कराया। लेकिन थे खूब चटक, लाल। उस अधेड़ मेहरारू की डलिया से लप्प से एक ठोकवा गपके और...
 
ये साले अफसर ही बनाते हैं बेईमानआज का जमाना पूरी तरह से बेईमानी का है। अपने देश में अब ईमानदारी की कदर नहीं होती है। यदा-कदा कोई ईमानदारी दिखाते हुए किसी का सामान वापस छोड़ जाए तो कहा जाता है कि ईमानदारी आज भी जिंदा है। लेकिन हम पूछते है...मिलिए वार्ताकार रुद्राक्ष पाठक सेदुनिया को सभी अपने अपने चश्मे (नजरिए) से देखते हैं। एक नवयुवक के नजरिए और एक भूतपूर्व नवयुवक के नजरिए में काफ़ी अंतर आ जाता है। स्कूल में पढने वाला नवयुवक ने मेरे जन्मदिन 21 मार्च से 2009 में इंग्लिश ब्ला..
 
"दो सुन्दरीयों के साथ : उडनतश्तरी दिल्ली में उतरी..!!"तमाम भोपाली टांगे वालों ने अब मरियल घोड़ों को काला खिज़ाब लगवा लिया जबलपुर में भी खूब बिक रहा है गार्नियर भी दिल्ली में तो कनाट प्लेश की दुकान लुट गई इस चक्कर में इस वीकेण्ड हेयर कलर ब्लैक में भी मुश्किल है लोग बुढ़ापा कैसे छिपाएंगें---सारे घोड़े काले कर दिये बूढ़े-खूसट सईसों ने. घोड़ियां हैं कि लत्ती मार मार कर अपने पति को दुत्त्कार रहीं हैं. धन्नो ने तो  भोपाल में सचिवालय के सामने धरना दे दिया कि हमारे पति बदल दिये गये हैं सरकार चुपचाप सो रही है. -"कोई भी पत्नी जिस स्वरूप में पति का वरण करनी है उससे विलग छवि को स्वीकारना धर्म के विरुद्ध है घोड़ों को तलाक देने को बाध्य हैं घोड़ियां सतीत्व की रक्षार्थ न्यायोचित है." घोड़ा मालिकों की गिरफ़्तारी के आश्वासन के बाद धन्नो ने मोर्चा खुर्द-बुर्द किया.
 
बचपन की यादे जो मै सज़ोये हुये हूँ बचपन की तरफ जब मुड़कर देखता हूँ तो जीवन के नवरस याद आ जाते है . बम्बई ........ जी हां उस समय बम्बई ही थी वह .सपरिवार घूम रहा था तो एक जगह मचल गया कैमरे के लिए सड़क पर लोट गया बच्चा जिद पर था पापा के आगे ध...लाइव यात्रा पोस्ट....रात के साढ़े बारह बज रहे हैं......गाड़ी चल चुकी है......लेकिन चलने के पहले का जो आगाज है वह कुछ ऐसा है कि मेरे सामने की दो सीटों( अप्पर बर्थ और मिडिल बर्थ ) पर कुल मिलाकर सात लोग जा रहे हैं। अभी न...
 
आज राजेश उत्‍साही का जनमदिन हैआज, 13 नवम्बर को गुलमोहर, गुल्लक, यायावरी वाले राजेश उत्‍साही का जनमदिन है बधाई व शुभकामनाएँ *आने वाले **जनमदिन आदि की जानकारी, अपने ईमेल में प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें**।* *अपने मोबाईल फोन पर...शब्दवाणी : दुनिया मबलब की हैशब्दवाणी शीषर्क *"दुनिया मबलब की है"* का हिन्दी रूपान्तरण । *रे दुनिया मतलब की है,* *अबे म्हाने जान पड़ी,* *जद तक बैल रवे घाणी में,* *तब तक लागे भाई सार घणी,* *बूढ़ा होए बाहर न काढ़े,* *डोले अली रे गली* ...
 
दुआएँ भी दर्द देती हैदुआएँ भी दर्द देती है दवाओं की ख़ता क्या है दगाओं से भरा मेरा दामन तो इक तेरी वफ़ा क्या है दुआएँ भी दर्द देती है दवाओं की ख़ता क्या है चटक कर बह उठा ये तो है लावा दर्द का दिल के हमदर्दी ना रा...गोकुल जैसा गाँव नहीं है !पनघट -पीपल छाँव नहीं है प्यार भरा कोई भाव नही हैमाँ की संदूकचीमाँ की संदूकची* माँ तेरी सीख की संदूकची, कितना कुछ होता था इस मे तेरे आँचल की छाँव की कुछ कतलियाँ ममता से भरी कुछ किरणे दुख दर्द के दिनों मे जीने का सहारा धूप के कुछ टुकडे,जो देते कडी सीख ,जीवन के लिये कुछ...
 
मुक्तिबोध ओ मुक्तिबोध : मुक्तिबोध स्‍मारक परिसर के संबंध में संक्षिप्‍त जानकारीमूर्धन्य कवि समीक्षक गजानन माधव मुक्तिबोध जी ने अपने जीवन काल की सर्वश्रेष्‍ठ रचनाएं छत्‍तीसगढ़ राज्‍य के राजनांदगांव जिले के दिग्विजय महाविद्यालय में अपने सेवा काल (1958-1964) के दौरान लिखी उनके इस रचना..डाल से बिछुड़ा एक पत्ताघना घनेरा साल वन , ऊंचे ऊंचे वृक्ष वृन्द , सूर्य किरणों से , हाथ मिलाने की होड़ में , ऊंचे और ऊंचे होते जाते , एक पेड़ की टहनी से , बिछडा एक पीला सूखा पत्ता , मंद हवा के साथ साथ , गोल गोल घूम रहा , धीमी गति से...
 
बिजली होगी अधिक 'दबंग'ग्राम पंचायत विद्युत वितरण योजना : सर्किल में बनेंगे 43 जीएसएस, हर पंचायत का अलग फीडर चूरू। जोधपुर विद्युत वितरण निगम ने चूरू सर्किल के ग्रामीण इलाकों की बिजली में नई जान फूंकने वाले तंत्र पर काम करना शुरू...टी वी बदनाम हुआ...टी .आर.पी तेरे लिए.....जरा इन बातों पर गौर फरमाएं.... *बिग्ग बॉस के शो में अश्लीलता का तड़का......राखी सावंत के शो में लात घूंसे चले....राखी सावंत के नामर्द कहने पर एक ने आत्महत्या की..!* जी हाँ ये तो कुछ उदाहरण मात्र है ..जो इन... 
 
वार्ता को देता हूँ विराम और मिलता हूँ शीघ्र ही एक यात्रा के बाद---ललित शर्मा

9 टिप्पणियाँ:

बढ़िया चर्चा.. कुछ लिंक जिन पर अभी जाता हूं...

बहुत अच्छी लगी कुछ लिंक्स |बाकी दोपहर में |मेरी रचना शामिल करने के लिए बहुत आभार |
आशा

बहुत अच्छी लगी वार्ता ... सभी लिनक्स अच्छे हैं.....

बहुत बढ़िया रही वार्ता ...आपकी यायावरी के लिए शुभकामनायें

बेहद उम्दा लिंक्स से सजी इस ब्लॉग वार्ता के लिए आपका बहुत बहुत आभार !

आप सब को बाल दिवस की बहुत बहुत हार्दिक बधाइयाँ और शुभकामनाएं !

यात्रा शुभ और सफल हो। मोती ढूंढ कर लाईये और रसास्वादन करवाईये। इंतजार रहेगा।

बहुत अच्छी लगी कुछ लिंक्सशामिल करने के लिए बहुत आभार |

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी में किसी भी तरह का लिंक न लगाएं।
लिंक लगाने पर आपकी टिप्पणी हटा दी जाएगी।

Twitter Delicious Facebook Digg Stumbleupon Favorites More