रविवार, 19 दिसंबर 2010

कृपया ध्यान देंवे : अति विशेष सूचना - आलेख प्रतियोगिता और आप - ब्लॉग 4 वार्ता - शिवम् मिश्रा



प्रिय ब्लॉगर मित्रो,
प्रणाम !

भारत 1947 में बेशक आजाद हो चुका था लेकिन गोवा में 450 साल से अधिक समय से जमे पुर्तगाली वापस जाने का नाम नहीं ले रहे थे।
पुर्तगालियों के कब्जे के चलते गोवा के लोगों में असंतोष बढ़ता जा रहा था और भारत सरकार पर भी अंदर से दबाव था कि यदि पुर्तगाली गोवा को नहीं छोड़ते हैं तो सैन्य कार्रवाई के जरिए उनका शासन नेस्तनाबूद कर दिया जाए।
गोवा मुक्ति पर लिखी गई केपी सिंह की पुस्तक के मुताबिक भारत सरकार पर भारतीयों की ओर से पुर्तगालियों को भगाने के लिए जबर्दस्त दबाव पड़ रहा था और खुद गोवा में भी इसके लिए हिंसक तथा अहिंसक आंदोलन चल रहे थे। पुस्तक के अनुसार पुर्तगालियों ने किसी भी सूरत में गोवा को न छोड़ने का मन बना रखा था और हमले की स्थिति में भारत को जवाब देने के लिए वे अपने स्तर पर सैन्य तैयारियों में भी लगे थे। सिंह का कहना है कि पुर्तगालियों को जब यह विश्वास हो गया कि भारत सैन्य कार्रवाई कर सकता है तो उन्होंने भारत को रोकने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रयास शुरू कर दिए। दूसरी ओर, भारत सरकार ने भी गोवा को मुक्त कराने का पूरा मन बना लिया था और अंतत: 1961 के दिसंबर महीने में सेना को गोवा कूच का आदेश दे दिया गया।
भारतीय सेना के तीनों अंगों ने आखिरकार 18 दिसंबर 1961 को जल थल और नभ से पुर्तगालियों पर जबर्दस्त हमला बोल दिया लेकिन इस बात का पूरा ध्यान रखा कि इसमें जनहानि कम से कम हो। हालांकि दोनों ओर से झड़पें 18 दिसंबर के पहले से ही जारी थीं। पुस्तक के अनुसार पुर्तगालियों ने भारतीय सैन्य कार्रवाई का प्रतिरोध किया लेकिन दूसरे ही दिन 19 दिसंबर को हार स्वीकार कर पुर्तगाली शासन के गवर्नर सहित अन्य अधिकारियों ने भारतीय सेना के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया।
अवकाशप्राप्त ब्रिगेडियर एस. कपूर का कहना है कि गोवा मुक्ति संग्राम में भारतीय सेना ने इस बात का पूरा ख्याल रखा कि इसमें कम से कम लोगों की जान जाए। भारत के लिए यह एक निर्णायक जीत थी जिसे सिर्फ दो दिन में हासिल कर लिया गया।
कपूर के अनुसार गोवा दमन दीव दादर नगर हवेली जहां कहीं भी पुर्तगालियों का कब्जा था। उन सभी इलाकों को मुक्त करा लिया गया। गोवा मुक्ति को लेकर दुनियाभर में प्रतिक्रिया हुई। भारत के मित्र देशों ने जहां इसका समर्थन किया वहीं अन्य ने इसे अनुचित ठहराया।
रूस में जहां भारत की कार्रवाई का समर्थन किया गया, वहीं अमेरिकी मीडिया में भारत के खिलाफ खबरें छापी गईं।

ब्लॉग ४ वार्ता  के पूरे वार्ता दल की ओर से भारतीय सेना  के तीनों अंगों को इस कामयाबी की वर्षगाँठ पर हार्दिक बधाइयाँ और शुभकामनाएं !
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

 सन् 1927 में वह दिसंबर का महीना था जब 19 तारीख को इन जांबाज देशभक्तों की शहादत ने देश के बच्चों, युवाओं और बुजुर्गो में आजादी हासिल करने का एक नया जज्बा पैदा कर दिया था। ये वीर सेनानी काकोरी की घटना से चर्चा में आए थे।
ब्लॉग 4 वार्ता  मंच के पूरे वार्ता दल और पूरे हिंदी ब्लॉग जगत की ओर से अमर शहीद राम प्रसाद बिस्मिल और अशफाक उल्ला खान के बलिदान दिवस पर उनको शत शत नमन !
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
 
आइये अब चलते है आज की ब्लॉग वार्ता की ओर ...
 
सादर आपका 
 

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

मुर्गे को गुस्सा क्यों आता है...खुशदीप :- बेवफाई हर कोई कहाँ झेल पता है !
 
 
 
 
 
 
 
 
नई ग़ज़ल/ रूठ गया है जो मुझसे वो यार कहाँ से लाऊँगा :- जब वह यार है ... तो उसका घर तो मालूम ही होगा आपको ! 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
अधनंगेपन की बेशर्मी पर नाज कैसे? :- सब के सामने खोल दें यह राज़ कैसे ? 




आईने के पीछे रहता कौन है :- कोई हम सा ही होगा !!


दीबाचा :- मतलब ?


गुलाबो मौसी :- आ गई क्या ?
 
 
आलेख प्रतियोगिता और आप :- आखिर कब तक दूर रहेंगे ?
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 


~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
मुस्कुरिये कि आज आपका जन्मदिन है ...

 जी हाँ आज संगीता पुरी जी  का जन्मदिन है !!
 
पूरे वार्ता दल की ओर से संगीता दीदी को जन्मदिन की बहुत बहुत हार्दिक बधाइयाँ और शुभकामनाएं !  

आप युही सदा मुस्कुराती रहे बस यही दुआ है !!!
 
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

आज की ब्लॉग वार्ता बस यहीं तक ..... अगली बार फिर मिलता हूँ एक और ब्लॉग वार्ता के साथ तब तक के लिए ......
जय हिंद !!

25 टिप्पणियाँ:

जन्‍मदिन है
और बतला रहे हो रात को
वैसे सारे दिग्‍गजों का जन्‍मदिन
दिसम्‍बर में ही क्‍यों होता है
यह बतलाएंगी संगीता जी
जल्‍दी ही एक शोध विश्‍लेषण में
मेरे तमाम दिसम्‍बर में जन्‍मे साथी
अपना नाम और ब्‍लॉग का विवरण
शिवम् मिश्रा जी के पास भिजवा दें
और साथ में हमारा बचपन और पर्यावरण पर एक आलेख
कहां भिजवाना है
इसके बारे में नुक्‍कड़ पर आयें।
हिन्‍दी ब्‍लॉगिंग के एक सेमिनार में शामिल ब्‍लॉगरों के हथियारों की झलक

ढेरों मंगल कामनाएं संगीता जी जन्मदिन की.

ताई को हार्दिक बधाई

संगीता को जन्मदिन की बहुत बहुत हार्दिक बधाइयाँ और शुभकामनाएं चर्चा बहुत सुंदर लगी, धन्यवाद

संगीता को जन्मदिन की बहुत बहुत हार्दिक बधाइयाँ और शुभकामनाएं

संगीता पुरी जी को जन्मदिन की बहुत-बहुत बधाई!
--
वार्ता बहुत अच्छी रही!

संगीता को जन्मदिन की बहुत बहुत हार्दिक बधाइयाँ और शुभकामनाएं

बहुत सुन्दर चर्चा है ! पोस्ट शामिल करने के लिए धन्यवाद ! संगीता जी को जन्मदिन की शुभकामनाएँ !

बहुत अच्छी वार्ता ...संगीता पुरी जी को जन्मदिन की बधाई

बहुत बढ़िया वार्ता लगाई है मिश्र जी ...

संगीतापुरी जी को जन्मदिन की बधाई और शुभकामनाएं ...

Sangeeta ji janm din ki dher sari badhaiyaan. Aapka janmdin to mere liye lucky nikla aaj pahli baar blog varta mein meri link ko sammilit kiya gaya hai iske pahle to mujhe pata hi nahi tha iske vishay mein

@ Avinaash vachaspati sir. Aap ki tippani ne to mujhe bahut khush kar diya.
वैसे सारे दिग्‍गजों का जन्‍मदिन
दिसम्‍बर में ही क्‍यों होता है
aisa likh kar mere liye ye subh lakchan hai. December mein janm liya hai aapki baat sach nikli to sayad mera bhi naam ek din diggajon mein samil ho jaye. hahahahaha...........

सुन्दर चर्चा...संगीता जी को बधाई-शुभकामनाएं ...

संगीता पुरी जी को जन्मदिन की बहुत-बहुत बधाई!
बहुत अच्छी वार्ता ..

many many happy returns of the day....sangeeta ji......bhut achi varta

संगीतापुरी जी को जन्मदिन की बधाई और शुभकामनाएं ...

सर्वप्रथम गोवा क्रांति और काकोरी के नायकों को हार्दिक नमन व श्रधान्जली....

सुंदर चर्चा ... संगीता पुरी जी को जन्मदिन की बधाई

sageeta ji ko janmdin ki bahut bahut shubhkamnaye .

शहीदों को नमन...
बढ़िया चर्चा... अच्छे लिंक्स...
दीदी संगीता पूरी जी को ढेरों शुभकामनाये व बधाई.

बहुत अच्‍छी वार्ता .. शहीदों को नमन ... शुभकामनाओं के लिए आप सबों का बहुत आभार !!

आज ही श्री अरविन्द मिश्रजी का भी जन्मदिन होने की सूचना है। दोनों शतायु हों।

आप सब का बहुत बहुत आभार !

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी में किसी भी तरह का लिंक न लगाएं।
लिंक लगाने पर आपकी टिप्पणी हटा दी जाएगी।

Twitter Delicious Facebook Digg Stumbleupon Favorites More