मंगलवार, 21 दिसंबर 2010

"जय-वीरू ने तलाशा गब्बर , चित्तौड़ में" ,स्वीडिश सुकुमारियों के प्रसारण के दर्शन से बचें तो ही बेहतर होगा.

सूरज को बचाओ :ब्लाग का शीर्षक ही अज़ीब लगा सोचा कोई पर्यावरणवादी व्यक्ति होगा..? सोच ही रहा था कि पाबला जी का फ़ोन मिला और बतियाने लगा . पाबला जी भी गज़ब इन्सान हैं दूसरों का खयाल तो रखना ही चाहिये पर दूसरों के ब्लाग की पूछ परख करना ठीक वैसे ही जैसे ये तो एक इन्सान की मानिंद भारत-ब्रिगेड के बारे में जानना चाह रहे थे . सच कितना अपनत्व देखने को मिला मुझे. देखिये ऐसों की कमी कहां दुनियां में एक इंदु पुरी जी को ही लीजिये गरिमा में उनकी अभिव्यक्ति पठनीय है. हां तो बात कर रहा था सूरज बचाओ ब्लाग की गुनेश्वर आन्नद ने कम लिखा किन्तु समाज के लिये बहुत अधिक और ज़रूरी लिखा.  इसे सभी लोगों को नमन जो भाव जगत में जीते हैं और इन जैसों की वज़ह से ही दुनिया दुनिया है....!!
सचिन के लिए
सुबह जय ने कहा वीरु भाई आज चित्तौड़ गढ की सैर पर चलते हैं, बस फ़िर वीरु भी तैयार हो गए अपना अद्धा लेकर गढ की सैर करने। गन भी साथ रख ली कहीं गब्बर दिख जाए तो इनाम के पैसे वसुल हो जाएं, आम के आम गुठली के भी दाम, गन तो वीरु ने शाम को ही देख भाल ली थी। कहीं गब्बर का सामना हो और गन धोखा दे जाए तो फ़ेंक कर मारने के ही काम आएगी। इसलिए साज-औ-सामान तो चौकस रहना चाहिए। गढ जाने के लिए घोड़ा धो पोंछ कर चकाचक किया गया। १९ दिसंबर का दिन आम दुनिया के लिए चाहे जैसा रहा  हो ,पर भारतीयों के लिए  ऐसी मिठास दे गया जिसका एक लम्बे समय से सबको इंतज़ार था !क्रिकेट- प्रेमियों  को दक्षिण अफ्रीका से हो रहे पहले टेस्ट में हार की गंध आने लगी थी,पर सचिन ने बल्ले से ऐसा कमाल किया कि ऐसी कई हारें उस अनोखी ख़ुशबू में गाफ़िल हो जाएँ !

यूँ तो रन बनने के लिहाज़ से यह एक और  शतकीय पारी थी,पर पचासवें शतक का प्रहार इतना अधिक रहा कि जीती हुई टीम की  चमक तो फीकी पड़ ही गयी, बाक़ी दुनिया ने भी क्रिकेट के भगवान का जलवा देखा !सचिन ऐसे खिलाड़ी  रहे हैं कि उन पर आये दिन पूरी की पूरी किताबें लिखी जा रही हैं,पर वे प्रशंसा और निंदा से कोसों दूर हो चुके हैं. यह बहुत बड़ा सौभाग्य है कि उनके खेलने के साथ हम जवान हुए और अब उम्र के ढलान पर भी हैं ,पर उनका खेल के प्रति समर्पण जस का तस है ! उनका लगातार अपनी फॉर्म  में रहते हुए रन कूटना और अपने को चुस्त-दुरुस्त रखना दुनिया के तमाम  खिलाड़ियों के लिए पहेली जैसा है तो कुछ के लिए रश्क ! (आगे इधर से )
 मौत भी शायराना चाहता हूँ!  ब्लाग पर
वो "हमें" चाहते हुए भी न जाने
क्यों दूर जाना चाहती थी...
न जाने क्यों अपनी
निगाहों से हटाना चाहती थी...
मिलती थी, बातें भी करती थी पर (कुछ चुभ रहा है..!!)

 जी मुझे अच्छी लगी उनकी रचना एक और रचनाकार है हीर जी वाक़ई बेहत लोकप्रिय है ब्लागर्स के बीच सधी हुई सटीक रचनाओं के लिये 
आखिरी हँसी ......
कविता ने ...
उसकी ओर आखिरी बार
हसरत भरी आँखों से देखा
नीम-गुलाबी होंठ फड़ड़ाये
अश्कों से भरी पलकें ऊपर उठीं
और धीमें से मुस्कुराकर बोली ......( आख़िरी-हंसी )
बज़रिये बज़्ज़ अनुराधा चतुर्वेदी मुक्ति  के बताए अनुसार हमने संगीतमय ब्लाग को पाया :-"Indian Raga: Kishori Amonkar : four ragas"
उपयोगी लिंक आदरणीय महेंद्र मिश्रा जी की मदद से साभार


अमन का पैगाम ब्लाग पर निर्मला जी के बारे में देख कर सम्मान देने कि  परम्परा को बढ़ावा मिलता देखना अच्छा लगा अहिंसा अमन सुख चैन की बातें कहाँ हैं अब..निर्मला कपिला
nirmalji-gold पंजाब  के एक खूबसूरत शहर नंगल की नामवर लेखिका श्रीमती निर्मला कपिला जी को कौन नहीं जानता. ज़िन्दगी के दुखों को सब्र और हिम्मत से कैसे सुखों मैं बदल सकते हैं सीखना है तो निर्मला जी के तजुर्बों से सीखो.. आज "अमन के पैग़ाम पे सितारों की तरह चमकें की पंद्रहवीं पेशकश " श्रीमती निर्मला के कुछ अनमोल शब्द…….
धर्म जाति पाति, पुरुष नारी कुछ विष्य ऐसे हैं मै जिन पर लिखने से सदा घबराती हूँ क्योंकि इन के नाम पर हर किसी की भवें तन जाती हैं।। ये मेरे अपने विचार हैं। मेरी कोई बात किसी को बुरी लगे तो क्षमा चाहती हूँ।
अहिंसा अमन सुख चैन की बातें कहाँ हैं अब
वो अवसर ढूँढते तलवार से अब वार करने का

पार्थवी पर बस सवाल "किस महान गणितग्य ने द्विघातीय समीकरण को नोटिस किया "मिला ... पांचवी पास से जो तेज़ होना चाहते हों तो ज़रूर आएं  उत्तर दे दें  आयें या सही उत्तर देख आएं. इस बीक संगीता जी ले आईं हैं  आज का राशिफल मै तो धनुर्धारी हूँ आप अपनी राशि देखिये  . जनपक्ष पर देखिये वन्दना शुक्ला जी का आलेख शब्द-स्रजन की ओर में परिकल्पना के विश्लेषण की सराहना की है है भी सराहनीय . आप स्वयम देखिये. ::परिकल्पना::
बानगी देखिये ज़रा महिला ब्लागर्स जिनने सराहना बटोरी इस वर्ष एक आश्चर्यजनक पहलू और दिखाई दिया कि पुरुष ब्लोगरों की तुलना में महिला ब्लोगर ज्यादा दृढ़ता के साथ हिंदी ब्लोगिंग में सक्रिय रही । यथा घुघूती बासूती, प्रत्यक्षा , नीलिमा, बेजी, संगीता पुरी, लवली, पल्लवी त्रिवेदी, अदा, सीमा गुप्ता, निशामधुलिका, लावण्या, कविता वाचक्नवी, अनीता कुमार, pratibhaa, mamta, रंजना [रंजू भाटिया ], Geetika gupta, वर्षा, डॉ मंजुलता सिंह, डा.मीना अग्रवाल,Richa,neelima sukhija arora, फ़िरदौस ख़ान, Padma Srivastava, neelima garg, Manvinder, MAYA, रेखा श्रीवास्तव, स्वप्नदर्शी, KAVITA RAWAT, सुनीता शानू , शायदा, Gyaana-Alka Madhusoodan Patel, rashmi ravija, अनुजा, अराधना चतुर्वेदी मुक्ति ,तृप्ति इन्द्रनील , सुमन मीत , साधना वैद , सुमन जिंदल, Akanksha Yadav ~ आकांक्षा यादव, उन्मुक्ति, मीनाक्षी, आर. अनुराधा, रश्मि प्रभा, संगीता स्वरुप, सुशीला पुरी, मीनू खरे,नीलम प्रभा , शमा कश्यप, अलका सर्वत मिश्र, मनीषा, रजिया राज, शेफाली पाण्डेय, शीखा वार्ष्णेय, अनामिका, अपनत्व, रानी विशाल, निर्मला कपिला, प्रिया,संध्या गुप्ता, वन्दना गुप्ता , रानी नायर मल्होत्रा, सारिका सक्सेना, पूनम अग्रवाल , उत्तमा, Meenakshi Kandwal, वन्दना अवस्थी दुबे, Deepa, रचना, Dr. Smt. ajit gupta, रंजना, गरिमा, मोनिका गुप्ता, दीपिका कुमारी, शोभना चौरे, अल्पना वर्मा, निर्मला कपिला, वाणीगीत, विनीता यशश्वी, भारती मयंक, महक, उर्मी चक्रवर्ती बबली , सेहर, शेफ़ाली पांडे, प्रेमलता पांडे, पूजा उपाध्याय,कंचन सिंह चौहान, संध्या गुप्ता , सोनल रस्तोगी, हरकीरत हीर, कविता किरण , अर्चना चाव , जेन्नी शबनम , ZEAL" वन्दना, mala , ρяєєтι , Asha , Neelima , डॉ. नूतन - नीति , सुधा भार्गव, Vandana ! ! ! , Dorothy , पारुल , किरण राजपुरोहित नितिला , नीलम ,ज्योत्स्ना पाण्डेय जैसी महिला ब्लागर्स नितांत सक्रिय हैं और अपने अपने क्षेत्र मे बहुत अच्छा लिख रही हैं ।
Bambouser  आपको अवसर देता है वेब कास्टिंग का कोशिश कीजिये संयोग वश मैं पहला हिन्दी  भारतीय हिन्दी ब्लागर हूँ जिसे अब तक774 दर्शकों ने देखा और सुना. इन पंक्तियों के लिखे जाने तक 28 वेबकास्ट प्रसारित हो चुकें हैं.
129 जुटाए समीर लाल-बवाल समाधिया जी ने तो 75 दर्शक के साथ दूसरे क्रम पर रहे  भाई अविनाश जी. 44 दर्शक दिये दीपक मशाल जी ने .  आप भी इस तकनीकी का प्रयोग कर सकतें हैं लेकिन एतियातन आप स्वीडिश सुकुमारियों के प्रसारण के दर्शन से बचें तो ही बेहतर होगा. 



सीएम क़्विज़ का रिज़ल्ट
"सी.एम.ऑडियो क्विज़- 2" के विजेता प्रतियोगियों के नाम
ashish
आशीष मिश्रा जी
shubham शुभम जैन जी aditi
अदिति चौहान जी
geet sangeet गीत संगीत जी shekhar शेखर सुमन जी manish
मनीष कुमार जी
darshan
दर्शन बावेजा जी
indu ji इंदु अरोड़ा जी abhinav
अभिनव साथी जी
glitter
जिन प्रतियोगियों ने एक जवाब सही दिया
Shivendra Sinha
शिवेंद्र जी
yashvant mathur
यशवंत जी
shaheen
शाहीन जी
ishita_b
इशिता जी
zameer
ज़मीर जी
rana pratap singh
राना प्रतापजी
ana
अना जी
applause applause applause समस्त
विजताओं को बधाईयाँ
applause applause applause
applause applause applause applauseapplauseapplause applause applause applause
अन्त मैं सभी को सादर अभिवादन के साथ फ़िर मिलने का वादा करते हुए 
गिरीश बिल्लोरे "मुकुल" का विनत प्रणाम स्वीकारिये

8 टिप्पणियाँ:

अति सुंदर ओर विस्तरित ओर बहुत से नये लिंक के साथ सुंदर चर्चा, धन्यवाद

शुक्रिया राज़ जी

ढेर सारे अच्‍छे लिंक्सों के साथ की गयी बहुत सुंदर वार्ता .. आभार !!

जय हो ... गिरीश दादा ... जाकिर भाई से सहमत हूँ ... आज तो आपने कमाल ही कर दिया है ... बेहद उम्दा वार्ता !

बहुत सुंदर वार्ता ..
आभार !!

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी में किसी भी तरह का लिंक न लगाएं।
लिंक लगाने पर आपकी टिप्पणी हटा दी जाएगी।

Twitter Delicious Facebook Digg Stumbleupon Favorites More