शनिवार, 29 जनवरी 2011

जन्म लेने से पहले ही देश में हर साल 7 लाख लड़कियों की हत्या - जिन्हें नाज़ है हिंद पे वो कहाँ है - ब्लॉग 4 वार्ता - शिवम् मिश्रा

प्रिय ब्लॉगर मित्रो ,
प्रणाम !

एक खबर के मुताबिक ...

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग [एनएचआरसी] का कहना है कि जन्म लेने से पहले ही देश में हर साल सात लाख लड़कियों की हत्या कर दी जाती है।
एनएचआरसी के सदस्य और पूर्व राजदूत रहे सत्यब्रत पाल ने कहा, 'जैसे ही कोई महिला गर्भवती होती है, उसे बच्चे के लिंग के बारे मे चिंता सताने लगती है। गैरकानूनी तरीके से गर्भ परीक्षण कराने पर जब भ्रूण के लड़की होने का पता चलता है तो उसकी हत्या कर दी जाती है।' उन्होंने कहा, 'भारत में हर साल एक वर्ष की उम्र से पहले ही 10 लाख 72 हजार बच्चों की मौत हो जाती है। लैंगिक भेदभाव वाली हमारी सोच इसकी सबसे बड़ी वजह है। लड़कों के बजाय लड़कियों की मृत्यु दर ज्यादा है।'

क्यों ना हम सब मिल कर एक मुहीम चलायें और इस घिनोनी सोच को बदल दें ... 
आज के दौर में जब अक्सर ही यह देखा जाता है कि माँ बाप की सेवा करने में बेटियां बेटो से आगे रहती है ... क्या बेटियों को जन्म ही नहीं लेने देना एक महा पाप नहीं है ... ज़रा सोचियेगा !
ब्लॉग 4 वार्ता  का पूरा वार्ता दल इस मानसिकता की घोर निंदा करता है !

आइये चलते है आज की ब्लॉग वार्ता की ओर ...

सादर आपका 

-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
डर्मल फिलर से पाएं नई मुस्कान


पलायन !


एक और राष्ट्रीय दिवस "निपटा" सब लौट गए छुट्टी मनाने

आज नीरज दीवान का जन्मदिन है


कोबरा का बाप (कार्टून धमाका)


आप ब्लागर हैं..तो बन सकते हैं मंत्री-प्रधानमंत्री 

"एक सवाल मीठा सा"


शायद तुम्हारी दादी भी यही कहानिया सुनाती होंगी


हिंदी में टाइपिंग करना सीखिए (Hindi Typing Tutor)


मेकाइवली - शैतान का वकील


महेंद्र मिश्र लाइव : "भारत के वीर जवान" पुस्तक का लाइव वेब कास्ट -1,2,3,4 


जिन्दगी है एक दिन ...............केवल राम


हमें भारतीयों के महान कार्यों पर गर्व नहीं होता, सिर्फ आश्चर्य होता है


एक पल... एक ज़िन्दगी...


ब्लागरों को कुछ नहीं आता- फर्जी आईडी वाले ही हैं बड़े ज्ञाता


ये चाँद कैसे कैसे!!!


शिवस्वरोदय-28


घर-घर में माटी का चूल्हा ---- ललित शर्मा


लखनऊ में चूहा बने दो सांड...खुशदीप

कुछ राजा भोज बाकी गंगू तेली ?


"आज कुछ दोहे" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")


कैसा रहेगा आपके लिए 28 और 29 जनवरी का दिन ??


ठेका किसे मिलेगा... :-देव


एक परिवर्तन और हमारा अजय 

रोक सको तो रोको!


मेरा प्रोफाइल फोटो -२


जनवरी 14 का कम्बल वितरण कार्यक्रम ......!


मत पूछ.... 

जहरीली तो नहीं हो गई ईसन नदी ?


अपने ब्लॉगर ब्लॉग का मोबाइल संस्करण एनेबल करें


अब कोई गुलशन न उजड़े, अब वतन आजाद है - साहिर लुधियानवी


वो दिन गए की कहते थे नौकर नहीं हू मै


जिन्हें नाज़ है हिंद पे वो कहाँ है ... कहाँ है ... कहाँ है ??? 

ये फोटो देखकर आप कुछ कहना चाहेंगें?


ब्लॉगिंग के चार वर्ष पूर्ण हुए… सफ़र जारी है (एक माइक्रो-पोस्ट)…… Four years of Blogging, Hindi Blogs and Hindi Writing

अनुरागी मन - कहानी भाग ९


सप्तपदी वैदिक विवाह...सात वचनों का अर्थ...सर्जना शर्मा


बिलखता उद्योगपति , धधकता कलेक्टर , और गणतंत्र मनाता गन तंत्र


अरे भाई अब ये "गन्ना चूसने वाली" मस्तानी कौन है ?


२६ जनवरी को काला झण्डा


गणतंत्र दिवस की बहुत बहुत हार्दिक बधाइयाँ और शुभकामनाएं


आखिर देश है क्या ???- - - - - - - -mangopeople


दम तोड़ते हैं विचार...


एक विचार


पूछने हैं तुमसे कुछ सवाल दोस्तों


अभियांत्रिकी निकाय की अपेक्षा चिकित्सा निकाय की ओर रुझान कम क्यों?


जरा याद इन्हे भी कर लें-----------मिथिलेश


सुन्दरकाण्ड से कुछ चौपाईयाँ.. (Sundarkand) 



-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
आज की ब्लॉग वार्ता बस यहीं तक ..... अगली बार फिर मिलता हूँ एक और ब्लॉग वार्ता के साथ तब तक के लिए ......
जय हिंद !!

8 टिप्पणियाँ:

शिवम् जी बहुत सुंदर सार्थक वार्ता ...सभी लिनक्स बेहतरीन ... आभार

यह तो निन्दनीय है ही पर इस सबके लिए हम सब को अपनी गिरेबांन मे भी झांकना होगा..

ऐसी बातें पूरे समाज के लिए शर्म का विषय हैं लेकिन जब तक हम स्वयं नहीं समझना चाहेंगे ,महिलाओं की इज़्ज़त दिल से नहीं करेंगे सुधार मुश्किल है और इस के दोषी स्त्री पुरुष दोनों ही हैं

बाक़ी लिंक्स भी बहुत अच्छे हैं कुछ देखे कुछ देखना बाक़ी है
धन्यवाद

जय हिंद जय हिंद !!सुंदर चर्चा जी !!

सार्थक चर्चा ! सुलझे विचार !

v nice yadi ham yeh baat samjhte to aaj ladkion ki sankhiya yoon kam na hoti unko janm se pahle hi mout na dete

शिवम् जी, आपका बहुत बहुत आभार जो आपने 'मेरा मैनपुरी' की पोस्ट को यहाँ शामिल किया ... आशा है यह सहयोग बना रहेगा !

बेहद सार्थक पोस्ट ... एक जरूरी मुद्दा उठाया है आपने !

आप सबका बहुत बहुत आभार !

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी में किसी भी तरह का लिंक न लगाएं।
लिंक लगाने पर आपकी टिप्पणी हटा दी जाएगी।

Twitter Delicious Facebook Digg Stumbleupon Favorites More