शनिवार, 8 जनवरी 2011

पति को वश में करने का उपाय /अनुष्का की भेंट नए साल का नया कैलेंडर, /श्रीमान पोस्ट और श्रीमती टिप्पणी का रहस्य...

http://1.bp.blogspot.com/_YV-l2hVTfAk/TSWlcGHRTuI/AAAAAAAADRQ/n4isfA-NL-s/s1600/02.jpg
ललित.काम पर
वर्ष -२०१० में श्री दीपक भारतदीप जी के द्वारा अपने ब्लॉग क्रमश: ..... दीपक भारतदीप की अंतर्जाल पत्रिका ...शब्दलेख सारथी .....अनंत शब्दयोग ......दीपक भारतदीप की शब्द योग पत्रिका .....दीपक बाबू कहीन .....दीपक भारतदीप की हिंदी पत्रिका .....दीपक भारतदीप की ई पत्रिका .....दीपक भारतदीप की शब्द पत्रिका .....दीपक भारतदीप की शब्दलेख पत्रिका ......दीपक भारतदीप की शब्द ज्ञान पत्रिका .....राजलेख की हिंदी पत्रिका ....दीपक भारत दीप की अभिव्यक्ति पत्रिका ...दीपक भारतदीप की शब्द प्रकाश पत्रिका .....आदि के माध्यम से पुराने चिट्ठाकारों के श्रेणी में सर्वाधिक व्यक्तिगत ब्लॉग पोस्ट लिखने का गौरव प्राप्त किया है । उधर हंसने हंसाने के लिये अपने अलबेला जी  जो  अलबेले ही हैं इस मामले में. अब देखिये हमारे पंडिज्जी शिवम भाई क्या कहते हैं:- साल २०११ में समृद्धि के ११ मंत्र नए साल से सभी की उम्मीदें बंधी होती हैं, जिनमें ढेर सारी समृद्धि की कामना भी शामिल है। लेकिन यह समृद्धि कैसे आए? यह सवाल आपके जेहन में भी होगा। समृद्धि का मत्र यही है कि सबसे पहले आप अपनी बचत को सुरक्षित करें और फिर अपने निवेश का प्रबधन इस तरीके से करें कि आपका पैसा आपके लिए काम करे, कमाई करे और खुद बढ़ता भी रहे। पेश हैं 2011 में समृद्ध होने के 11 सकल्प, जो बचत और निवेश में साल को सुखमय बना सकते हैं..
1. रहेंगे हमेशा अपडेट 2. जरूर खरीदेंगे स्वास्थ्य बीमा 3. बैंक एफडी में कुछ बचत
4. बुढ़ापे की फिक्र 5. पीपीएफ है सदाबहार 6. शुरुआत से टैक्स प्लानिग 7. घालमेल बिल्कुल नहीं 8. घर खरीदेंगे 9.सोने-चादी में निवेश 10.स्टॉक मार्केट में रहेंगे सजग 11. डायवर्सिफाइड फंड्स अनुराग जी से मिलना और खुश्दीप जी से ना मिलना  यदि यह वाक्य किसी की की सलाह के रूप में होता  तो इस कविता के ब्लॉग तक पहुँचिये 
यदि
मानव आदिमानव ही रहता
न फर गँवाता
न ठंड से ठिठुरता.
न काटता वन
न लू से मरता.
न धरती होती बंजर ?

'नए साल का नया कैलेंडर: "अनुष्का की ओर से भेंट स्वीकारते हुए मन भावुक हो जाता है जब बच्चे नेह भरी मुस्कान सस्नेह बिखेर देते हैं अनायास...भारतीय शिक्षा संदर्भों में  शिरीश खरे का नज़रिया सिर्फ़ साक्षरता से काम न ही चलेगा.बात सही तो है न एक और पोस्ट देखना न भूलिये "बच्चे खड़े बज़ार में"   राजीव तनेजा ने बताया न बाप बड़ा न मईया  बैमबज़र पर आज़ और कल हमने मुलाक़ात की क्रमश: भोपाल से डा० उमाशंकर नगाइच जी एवम  बेलफ़ास्ट से दीपक मशाल से.
अपनी माटी पर मिथलेश धर दुबे जी की पोस्ट  देखिये और अपमी माटी से जुड़ भी जाइए कोई हर्ज़ नहीं
ब्लॉग इन  मीडिया के अनुसार जो ब्लॉग आज अखबारों में थे
मित्रो आप हम अक्सर तनाव-ग्रस्त इस कारण हो जाते हैं क्योंकि हमारे मन स्वाद अभी नही मिला हमको तो ब्लाग जगत इसे लेकर चिंतित है जी देखिये न "स्वाद का सफ़र" इस ब्लाग को  रोज़ बांचने की पुरुष ब्लागर्स साथियों को  सलाह  दी जाती है  नित्य अध्ययन करें भाभी जी को रसोई में सहयोग करें और खुद को भी साबित करें "मास्टर-शैफ़" आर्यावर्त पर बिहार को केंद ने दिया एक हजार करोड़.आलेख जरूर देख लीजिये मेरी नज़र में ये पोस्ट भी पठन योग्य हैं तबी तो हमारी वाणी ने बताया की अधिक लोगों ने पढ़ा है इनको   

   दर्शन बावेजा जी के ब्लाग पर  चलते हैं आइसक्रीम जमाने क्यों और कैसे विज्ञान मे: कैसे बनती है आईसक्रीम What's in the Icecream ? 
सृजन-शिखर और दिल की कलम से पर  ज़रूरी पोस्ट हैं  है किसी को मत बताना भाई किसी नीता वेता ने सुन लिया तो लफ़ड़ा होगा.अर्र भुलाय गया था था बताना कि  ललितडॉटकॉम: पर अजात शत्रु महाबाहू बसंत साहू मिलिये तथा आत्म मंथन की प्रक्रिया में की चौथी किश्त जारी हो चुकी है देख लीजिये साहबानऔर ये भी यूरेका: ब्लागर विमर्श @ अविनाश वाचस्पति ने कहा ....
    गिरीश बिल्लोरे मुकुल की राम राम जोहार करें स्वीकार

7 टिप्पणियाँ:

इस पोस्‍ट के माध्‍यम से ब्‍लॉग जगत के क्रियाकलापों का पता चला .. अच्‍छी वार्ता के लिए आपका आभार !!

वाह दादा सुंदर चर्चा के लिए आभार,
अब यहीं से ब्लॉग नगरिया का चक्कर लगाते हैं।

अच्छी वार्ता के लिए बधाई
आशा

बेहद उम्दा ब्लॉग वार्ता दादा ... मेरी पोस्ट को शामिल करने के लिए बहुत बहुत आभार !

अरे सुबह सुबह क्यो इन बेचारे पतियो को सत्या नाश कर रहे हे भाई:) अब ओर कितना बस मे करेगी....

उम्दा वार्ता !

अनोखी शैली में सजी खूबसूरत वार्ता गिरीश भाई ..शुभकामनाएं

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी में किसी भी तरह का लिंक न लगाएं।
लिंक लगाने पर आपकी टिप्पणी हटा दी जाएगी।

Twitter Delicious Facebook Digg Stumbleupon Favorites More