शुक्रवार, 29 जुलाई 2011

गुगल देव ने ब्लॉग उड़ाए, हिन्दी ब्लॉगर लपेटे में आए - ब्लॉग4वार्ता -- ललित शर्मा

ललित शर्मा का नमस्कार,  चलते चलते पहुंच गए कैप टाऊन, इधर घोषणा हुई है कि सबसे तेज बॉलर को मिलेंगे 50 हजार डॉलर बस यह सुनकर मन मयुर नाच पड़ा, अरे यार आजा नच लें जरा। फ़िर टैम मिले न मिले, क्योंकि स्लट वाक के दौरान भीड़ जमा होगी और ट्रैफ़िक जाम, पहले तो हमें समझ नहीं आया कि कौन सा वाक-टॉक है, पाबला जी ने प्लस पे बताया तो समझे। गुगल देव बड़े गुस्से में हैं, फ़र्जी लोगों सजा देने का क्रम जारी है, कइयों के ब्लॉग उड़ा दिए गए हैं। इसके लपेटे  में जानी मानी हिन्दी ब्लॉगर भी आ गयी, न उनकी प्रोफ़ाईल नजर आ रही है, न ब्लॉग, अगर और कोई भी लपेटे में आ गया है तो बिना लाग लपेट के यहाँ पर आवेदन कर सकता है। अब हम चलते हैं आज की ब्लॉग4वार्ता पर और नेरोगेज लाईन पर ब्राडगेज की रेलगाड़ी दौड़ाते हैं। आप भी बैठिए दू डबिया गाड़ी में और ब्लॉग यात्रा का आनंद लिजिए........।

मिसिर जी वर्तमान में ज्ञान गंगा में गोते लगा रहे हैं, नित नए-नए मोती ढूंढ कर लाते हैं ज्ञानरंजन के लिए और धड़ाधड़ बैमबुजर पर वेब कास्ट चालु है। दिन में 3-4 वेब कास्ट नित नेम से कर ही देते हैं, गुरु गुड़ हो गए चेले पिस्ता वाली खीर हो गए। मिसिर जी कह रहे हैं कि आडंबर व्यक्ति को आत्मपतन के मार्ग की और ले जाता, सच ही कहा है भगवन, आत्मपतन के अन्य मार्ग भी हैं। जरा उनपर भी प्रकाश डालिए। '१३ अगस्त,२०११ को दुर्लभ खगोलीय घटनाज्योतिषीय एवं खगोलविज्ञान के लिए एक अत्यंत महत्वपूर्ण घटना में सौर मंडल के चार ग्रहों के एक साथ मिलने का दुर्लभ संयोग आमजनों को १३ अगस्त,२०११ की शाम के पश्चात देखने को मिलेगा। खगोल वैज्ञानिकों का ऐसा...

अप्रेल 2010 को मैने एक पोस्ट लिखी थी, जिस पर एक मोहतरमा Jyotsna  ने कमेंट किया था, और मैने उसका जवाब भी दिया और उनकी कमेंट को सम्मान देते हुए रखा भी था, कल उस पोस्ट पर गया तो उनका कमेंट गायब मिला, उनकी प्रोफ़ाईल भी डिलिट की उपाधि पा चु्की है। गुगल इन सब फ़र्जी लोगों पर निगाह बनाए हुए है, उनके आई पी को भी ब्लॉक कर सकता है गुगल के लिए, फ़िर उस आई पी से गुगल में लाग इन नहीं हुआ जा सकता।चाहे जैसे भी हो, बस कोई मुझे फ़ैमस कर दे, कमाल है जी आप तो वैसे भी फ़ेमस ही हैं।

इधर नेट पर दिल लगाया जा रहा है,हम तो सोचे थे कि ये लिंक ही लगाते हैं, पर अब दिल भी लगाने लगे। 

फिर एक बार मोहोब्बत में डूब जाते हैं
चलो फिर एक बार नेट पे दिल लगाते हैं
हम अचानक मिलेंगे आर्कुट की गलियों में
और फिर फेसबुक पे अंजुमन सजाते हैं
तुम एक प्यारी प्रोफाइल बना  लेना  
चाहे फोटो सेलेब्रिटी की ही लगा लेना
अपना स्टेटस, सिंगल मै जब दिखाऊंगा
तुम भी लाइक कर के ख्वाहिशें जगा देना
गूगली टाक पे गुफ्तगू चंद कर लेना
मै फेसबुक पे मिलूँगा पसंद कर लेना
अगर मिजाज़ न बहले तो आर्कुट आना
मेरी तस्वीर पिकासा में बंद कर लेना
आगे यहाँ पढे

हिन्दी के यात्रा-वृत्तान्त का परिचय है इस पोस्ट में, साहब गांव में नक्सली आएं हैं... तो हम क्या करें बे, क्या करना है, दो चार लाठी डंडे गोली सोली मारो, ताकि तोड़ी जा सके उनकी कमर।कहीं आप भी बस कैलोरियां गिनने के चक्कर में तो नहीं पड़े हुएअमेरिका में एक विशाल अध्ययन हुआ.. एक लाख बीस-हजार पढ़े लिखे लोगों पर और यह स्टडी 12 से 20 वर्ष की लंबी अवधि तक चली। यह अध्ययन यह जानने के लिये था कि आखिर लोगों का उम्र के साथ वज़न कैसे बढ़ने लगता है। प्रेम की सघन अनुभूतियों को समेटते मुक्तक सप्तरंगी प्रेम' ब्लॉग पर आज प्रेम की सघन अनुभूतियों को समेटते नीलम पुरी जी के कुछ मुक्तक. आपकी प्रतिक्रियाओं का इंतजार रहेगा... १)आँखों के अश्क बह नहीं पाए, खामोश रहे किसी से कुछ कह नहीं पाए, किस से कहते ... 

मैं हवा को नहीं जानता था निज़ार क़ब्बानी की तीन छोटी कविताएं जिस दिन मुझे निकाला गया जिस दिन मुझे निकाला गया कबीले से तुम्हारे तम्बू के दरवाज़े के बाहर एक प्रेम-कविता और एक ग़ुलाब रखने के कारण उस दिन से शुरू हुआ पतन का दौर व्याकर...ये शाम दिन की सारी उमंगो-तरंगो को समेट रोज ये शाम ढल जाती है सारी चमक उम्मीदों वाली शाम की लालिमा में पिघल जाती है... ये शाम ढल जाती है फिर भी ढलती नहीं जाने क्यों रात बन फिर सुबह में बदल जाती है....



कुछ लोग होते हैं जिनसे दिल से मिलने का दिल करता है --एक कार्यक्रम में शामिल होने गए तो नाम पता पूछने के बाद एक आयोजक युवक ने पूछा-- सर आपकी उम्र क्या लिखूं । मैंने कहा भैया , यदि लिखना ज़रूरी है तो लिख लो २५+। यह सुनकर चौंककर उसकी आँखें ऐसे फ़ैल गई जैसी हाइपर...एक नये खलनायक का आगमन प्रकाश राज को उस समय हिन्दी सिनेमा का कोई दर्शक नहीं जानता था, जब उनको प्रियदर्शन निर्देशित तमिल फिल्म कांचीवरम के लिए श्रेष्ठ कलाकार का नेशनल अवार्ड मिला था। कांचीवरम, इसी नाम की साड़ी के बुनकरों के जीव...

वार्ता को देते हैं विराम, मिलते हैं अगली वार्ता में, ब्रेक के बाद, राम राम

17 टिप्पणियाँ:

रोचक लिंक्स...बढ़िया वार्ता

अच्छी वार्ता |लिंक्स सदा की तरह हैं अब पढाना शुरू करना है |
आशा

रोचक बढ़िया वार्ता

आज का अंदाज़ पसंद आया ...शुभकामनायें !

बढ़िया अंदाज़ ...शुभकामनायें...

बढ़िया अंदाज़ ...शुभकामनायें...

varta ka ye andaz to khoob pasand aaya.

रोचक वार्ता ..... आभार

Bahut badiya jaankari ke saath rocak links aur vaarta ke liye aabhar!

अच्छी वार्ता .....

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी में किसी भी तरह का लिंक न लगाएं।
लिंक लगाने पर आपकी टिप्पणी हटा दी जाएगी।

Twitter Delicious Facebook Digg Stumbleupon Favorites More