रविवार, 4 मार्च 2012

चेतन भगत बोले :" वाह चेतन भगत तुम्हें बार-बार सलाम, एमपी असली इंडियन "


इब का बतावें मन में उद्द्वेग और हैडवा में तनाव लय के कौनो वार्ता लिखिहै..? लिख है काहे न लिखि है.. दादा कहिन कै वार्ता लगा आओ..! हमहूं कहिन कय वार्ता लगाय दैं हैं.. उनकर आदेश सर माथे लगाय हम लिंक दर लिंक घूम घूम कय बड़ी मेहनत से वार्ता लिखबै... 

ई देखो अपना राशि फल का कहत है..ओऊर आप खुदै देख लेओ.."आज का राशि फ़ल" संगीता पुरी बताय तो रहीं हैं कि आज आप का करौ का न करौ..
                             कल्लू दादा हमारे मोहल्ले के पोस्ट मैन के दिन लद गए अब तो खबरों के झरने जहां तहां सुलभ हैं.खबर से याद आया एक. खुशखबरी  है कि "कृष्ण कुमार यादव बने इलाहाबाद रीजन के नए निदेशक डाक सेवाएं" तो भैया देओ न बधाई......का बोले शिवम भैया यहाँ पर सब शांति ... शांति है - ब्लॉग बुलेटिन दादा देक्खो ज़रा एन होली पे संतों की नाईं बतिया रहे हैं.. अरे सब होली की प्लानिंग  में लगे हैं देखिये न  भाई बारामाठे जी को . इंतज़ार...है..योग्यता की मात्रा कैसे बढ़ाई जावे.अपनी योग्यता से  भ्रष्टाचार भगाने कह रह हैं तो भैया हम भगाय देते हैं-ए भग हट चल जा परे जा भ्रष्टाचार जा हट भाग जा........!


 धान के देश में! जी.के. अवधिया जी फ़ुल तैयारी में हैं भाई..
                                                           मैं श्रीमती ..........................., पत्नी श्री................ एतद् द्वारा घोषणा करती हूँ कि मेरे पति यदि होलिका दहन की रात्रि से लेकर धुलेड़ी के सायंकाल तक मुहल्ले की परम्परा के अनुसार होली मनाएँगे तो मुझे किसी भी प्रकार का ऐतराज नहीं होगा।

हस्ताक्षर श्रीमती ..........................."

क्रिकेट में ऐसा भी होता है...




 दु:खद पटाक्षेप शीर्षक से  बलराम अग्रवाल
जी का स्मृति आलेख देखिये. 
 

वाह चेतन भगत तुम्‍हें बार-बार सलाम,: 

हुल्लड़ मचाती पोस्ट 

होली पर ब्लॉगिंग की 'नूरा कुश्ती'...खुशदीप



[Rakesh%255B4%255D.jpg]मध्‍यप्रदेश का व्‍यक्ति कभी गुट नहीं बनता वह हमेशा हिन्‍दुस्‍तानी रहता है। .. बकौल वेतन भगत एमपी असली इंडियन शुक्रिया. उधर   सिनेमा को नए रंग दे रही स्त्रियां अच्छा आलेख है. ज़ील का आलेख अवश्य देखने योग्य है अछूत रजस्वला स्त्री... मनके मनके पर यह आलेख देखिये क्या,यह खूब ना होता---कैलाश शर्मा का बाल संसार भी उत्तम पोस्ट है. 



7 टिप्पणियाँ:

बढिया एकदम बोले तो चौकस वार्ता

यहां से 3 पोस्टें पढ़ने को मिलीं.
अभार.

बहुत अच्छी वार्ता, बढ़िया लिंक्स, अनूठा अंदाज़...

@ब्लॉ.ललित शर्मा जी "हमाए साथ रहोगे तो ऐसेइच्च ऐश करोगे दादा"
@दादा जे बे-तन भगत ह्वैं
@जै हो काजल भैया
@जे जबलईपुरिया अंदाज़ है जिज्जी
आप सभी का आभार

बहुत सुन्दर लिंक संयोजन्।

उन्दा वार्ता |
आशा

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी में किसी भी तरह का लिंक न लगाएं।
लिंक लगाने पर आपकी टिप्पणी हटा दी जाएगी।

Twitter Delicious Facebook Digg Stumbleupon Favorites More