मंगलवार, 13 जुलाई 2010

ओह!…श्श…शिट ट…ट…निकल गई - लोजी लग गई वाट अपनी तो - ब्लॉग 4 वार्ता - शिवम् मिश्रा

प्रिय ब्लॉगर मित्रो
प्रणाम !

कैसे है आप सब ? लीजिये मैं फिर हाज़िर हूँ आप सब के लिए एक और ब्लॉग वार्ता ले कर इस ब्लॉग वार्ता के मंच से ! आशा है आप सब को यह वार्ता पसंद आएगी !

आपका
शिवम् मिश्रा

-------------------------------------------------------------------------------------------------------

ओह!…श्श…शिट ट…ट…निकल गई…. :- क्या, कौन, कैसे ??

यही है ना.... अपनी ज़िन्दगी... :- क्या मालुम पता करना पड़ेगा !!

ये शहर है क़ामयाब यहाँ क़ामयाब हैं लोग............ये ज़नाब तो बस कमाल ही कर रहे हैं :- १००% सहमत है आपसे !!

ब्लाँग के डिफाँल्ट कमेँट बाँक्स को कैसे बदलेँ :- आइये जाने !

जातीय जनगणना में ‘फंसी’ सरकार :- यह तो होना ही था !

मैनपुरी को बरबाद होने से रोक सकता है प्रशासन :- बर्बादी रोकना कौन चाहता है !

क्वीन बेटन को कामन मैन बेटन क्यों नहीं कहते -वसीम बरेलवी :- है कोई जवाब ??

नरेंदर सिंह नेगी जी का एक गढ़वाली गीत. :- आइये सुनते है !

ग़ज़ल का सफ़र - १ ( मास्टर मदन ) :- बड़ा ही हसीं सफ़र है जी !

१० मेरी यादों का एक शहर , लखनऊ .........अजय कुमार झा :- एक नज़र आप भी देख लीजिये !

११ ब्लागिंग सुधारोन्माद :) :- यह क्या है भाई ?

१२ क्या करें क्या न करें...ये कैसी मुश्किल हाय ... :- कोई तो बताये इस का हल ...मेरे भाई !

१३ गणपतिं प्रणमाम्यहं :- संगम तीरे !

१४ अब तो ब्लोगिंग में मज़ा आने लगा है :- यह तो अपने मन की भी बात है !!

१५ चिट्ठी न कोई संदेश..... :- डाकिया आया था क्या ??

१६ हसीन उदासी :- सच में हसीन है !

१७ अरे डरें नहीं, सिर्फ़ पहचान कर नाम बतायें! :- कौन हम ??

१८ केवल वयस्कों के लिए.... :- ज्यादा दिमाग ना लगायें बस एक बार पोस्ट देख आयें !

१९ मक्खन को ऑक्टोपस बना देता...खुशदीप :- पर क्यों भाई ?

२० गांवों के उपभोक्ताओं को ठग रही है मोबाईल कम्पनियाँ और TRI सोयी हुयी है और संचार मंत्री दलाली खाने में व्यस्त हैं ...... :- घोर कलयुग है भाई !

२१ “.. .. .बदल जायेगा!” (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री “मयंक”) :- पर क्या क्या ?

२२ नई ग़ज़ल/ जब अपना ही छलता है :- बड़ा दुःख होता है !

२३ लोजी लग गई वाट अपनी तो............. :- पर हुआ क्या ??

२४ जय हिंद और जय माता दी ........... :- यह तो nice नहीं है !

२५ धर्म :- एक लघु कथा !

२६ मौका देख चौका मारने की फिराक में मौकापरस्तों के तुक्के :- लगे कि नहीं ??

२७ शीला दीक्षित के नाम पत्र :- इन लड़कियों से बैर क्यों .....पढना है इन्हें....!!

२८
मख्खन और गणपत के बरसाती चुटकुले ---- :- हा हा हा !

२९
कार्टून : देखिये वर्ल्डकप का असली विजेता :- क्या स्पेन नहीं है...........विजेता ??


३० मेरी प्रेम कहानी----जो आज तक सीने में दफ़्न थी---- ललित शर्मा :- अजब प्रेम की गजब कहानी !

३१ मेरा सजन चॉकलेटी... :- खा मत लेना !

३२ क्या आपको हिन्दी वर्णमाला आती है ? [ Do you know Hindi Alphabets] :- बोलो बोलो ?

३३
धन्यवाद !...डॉ अरविन्द मिश्रा ! :- धन्यवाद आपको भी !

३४ बड़ी बुरी लत है ब्लोगिंग की :- सच कहा जी आपने !

३५ नितीश को डर कहीं आज फिर फोटो न खिंच गया हो! :- रात को नींद आई ?

३६ बीहड़ की शादी(अंतिम भाग)-दीपक मशाल :- मैं तो जा नहीं सकता, काम है.........आप हो आओ !

३७ अमरनाथ जा रहा हूं :- बम बम भोले ! शुभ यात्रा !

३८ बृहस्‍पति को एक एक राशि पार करने में एक वर्ष लगते हैं !! :- अच्छा जी !

३९ आज तक चैनल के अधनंगी पत्रकारों से शर्मशार होती दिल्ली . :- यह हो क्या रहा है !


४० बिटिया से बाजी लगा ली है नीदरलैंड्स जीतेगा! :- आप तो हार गए !


लो जी चालीसा पूरा हो गया !!

और अब अंत में अपनी डफली आप बजता हूँ ............अपनी पोस्ट का लिंक नीचे लगता हूँ !

४१ अपना ब्लड ग्रुप देख कर खाना खाने का .........क्या ?? :- एक बार यह भी आज़मा कर देखिये !

आज के लिए बस इतना ही .......फिर मिलुगा एक और वार्ता के साथ तब तक के लिए ....

जय हिंद

28 टिप्पणियाँ:

वाह शिवम जी,
आज तो काफ़ी सारे लिंक दे दिए,

आभार

मिश्राजी
आपकी चर्चा भी दिन-ब-दिन निखरती जा रही है.
आज तो आपने कई मजेदार लिंक्स दिए हैं.
आपको बधाई.

waah waah shivam ji !

bahut khoob........

sundar aur rochak charcha ke liye badhaai !

बेहतरीव चर्चा...मगर खाने से काहे रोक रहे हैं :)

Shivam ji,

bahut achhe links diye aapne yahan. kuchh padh chuki hun...shesh par ja rahi hun.

aapki mehnat kabile taareef hain.

regards,
Divya

बहुत बढ़िया चर्चा!
--
शुभकामनाएँ!

बेहतरीन चर्चा, अच्छे लिंक्स दिये हैं आपनें।
अभी टिपिया दिये है, सारे ब्लाग्स पढूंगा उसके बाद फ़िर से टिपियानें आऊंगा।

बढ़िया चर्चा...उम्दा लिंक्स तक पहुंचाने के लिए आभार

शिवम

आपको बधाई हो जो आपने एक पोस्ट मे ही सबकुछ समटने कि कोशीश कि , गागर मे सागर वाली कहावत को आपने सच कर दिखाया । इस के लिये आपको एक बार पुन: अभार ।

gaagar mey sagar bhar dala, link mile kuchh pyare,
jiyo-ijiyo shavam bhai, bane raho bus pyare.

चर्चा भी दिन-ब-दिन निखरती जा रही है
shukriya hamzabaan ka zikr karne k liye.

सुन्‍दर चर्चा ।

भई बहुत खूब्! आपने तो लिंक्स की पिटारी खोल डाली...

बेहतरीन चर्चा!

शिवम जी, बढिया रही यह संक्षिप्त चर्चा। अच्छा लगा ढेर सरे लिंक्स पाकर।

वाह. खूब मेहनत की है शिवम जी, इतने सारे लिंक सहेजने में. मुझे भी शामिल कर लिया, आभारी हूं.

बहुत सुंदर और रोचक.

रामराम.

आपकी चर्चा खूब तरक्की कर रही है , शुभकामनायें !

Shivam bahut SUNDAR. main dekh aaya par padhunga thodi der bad. dhanyvad bhaiya.

Shivam ji,
sabse pahle aapka aabhar...
aur ab ye kahna hi aapne bas lajwaab kar diya..

ब्लॉग चालीसा -मेहनत रंग लाई है !

गज़ब! ढेर सारे लिंक।
हमरे ब्लॉग को सम्मान देने के लिए शुक्रिया।

बहुत ही सार्थक व सराहनीय प्रस्तुती ,ब्लोग 4 वार्ता पर आना अच्छा लगता है |

बहुत अच्‍छी वार्ता की है .. मैने पहले देखा था .. पर टिप्‍पणी करते वक्‍त लाइट चली गयी थी .. शुक्रिया !!

आप सब का बहुत बहुत आभार !

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी में किसी भी तरह का लिंक न लगाएं।
लिंक लगाने पर आपकी टिप्पणी हटा दी जाएगी।

Twitter Delicious Facebook Digg Stumbleupon Favorites More