सोमवार, 26 जुलाई 2010

इस सप्‍ताह के कुछ नए चिट्ठे .. ब्‍लॉग 4 वार्ता .. संगीता पुरी

आप सभी पाठकों को संगीता पुरी का राम राम ... हमेशा की तरह इस सप्‍ताह चिट्ठाजगत से जुडनेवाले कुछ नए चिट्ठों को लेकर प्रस्‍तुत हूं ... ....

My Photo


मेरा फोटो

My Photo

My Photo

Our President

My Photo

मेरा फोटो

My Photo
My Photo

.मिलती हूं अगले सप्‍ताह ... फिर कुछ नए चिट्ठों के साथ ... अलविदा .....

19 टिप्पणियाँ:

बहुत अच्छी प्रस्तुति।
राजभाषा हिन्दी के प्रचार-प्रसार में आपका योगदान सराहनीय है।

नए चिट्ठों से परिचय कराने के लिए आभार

अच्छी वार्ता।

आभार

बेहतरीन चर्चा..... नए ब्लॉग और नए लेखकों का बहुत बहुत स्वागत है. पवन कुमार की "तन्हाई ज़िन्दगी की" पसंद आई........ बहुत खूब!

अच्छी वार्ता....कई नए लिंक्स मिले...आभार

बढिया लिंक्स...सुन्दर चर्चा

बेहतरीन चर्चा ...धन्यवाद

चित्रमयी अच्छी वार्ता

बहुत अच्छी प्रस्तुति।

अच्छी वार्ता।

बढ़िया परिचय...

माननीय ! आपको केवल ये ज्ञान है कि भोले बाबा का लिंग ऋषियों के श्राप के कारण गिरा था लेकिन सच्चाई ये है कि उसे ऋषियों ने डंडे पत्थर मारकर गिराया था . तभी से भारतवासियों से दुखी होकर भोले जी भारत छोड़ कर चीन चले गए थे और मानसरोवर पर रहने लगे थे . हिन्दू ये भी मानते हैं कि भोले भंडारी काबा में रहते हैं . हो सकता है कुछ काल के लिए वहां भी रहे हों ? यहाँ पहले लिंग काटा जाता है , लिंग वाले बाबा जी को कष्ट पहुँचाया जाता है और फिर उसकी पूजा कि जाती है .
हमारा भारत महान है क्योंकि यहाँ उस चीज़ की पूजा होती है जिस पर पुरुष की महानता टिकी होती है .

हमारा भारत महान है क्योंकि यहाँ उस चीज़ की पूजा होती है जिस पर पुरुष की महानता टिकी होती है .http://vedquran.blogspot.com/2010/07/way-for-mankind-anwer-jamal.html?showComment=1280147480789#c4309971045506993147

नये लिंक्स के साथ बेहतरीन चर्चा

बहुत अच्छी प्रस्तुति।

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी में किसी भी तरह का लिंक न लगाएं।
लिंक लगाने पर आपकी टिप्पणी हटा दी जाएगी।

Twitter Delicious Facebook Digg Stumbleupon Favorites More