बुधवार, 11 अगस्त 2010

आज ब्लॉग4वार्ता की 150 वीं पोस्ट---ललित शर्मा

नमस्कार मित्रों, आज ब्लॉग4वार्ता की 150 वीं पोस्ट है, विगत 10 मार्च से प्रारंभ होकर अनवरत चल रही इस वार्ता को पोस्ट के हिसाब से तो 5 माह हो चुके हैं। इन 5 महीनों में कई समस्याओं का भी सामना करना पड़ा। लेकिन वार्ता का प्रकाशन रुका नहीं। आगे भी अनवरत जारी रहेगा ऐसी आशा है। मैं ब्लाग वार्ता की पूरी टीम को शुभकामनाएं देता हूँ,जिनके प्रयास से इस मुकाम पर पहुंचना संभव हुआ। अब चलते हैं आज की ब्लाग वार्ता पर...

आज छत्तीसगढ में हरेली का त्योहार मनाया गया, वार्ता का प्रारंभ हरेली की पोस्ट से करते हैं--बचपन का गेंडी चलाना बहुत याद आता हैछत्तीसगढ में सावन मास की अमावश को हरेली(हरियाली)अमावश कहते हैं, यह त्यौहार मूलत: हरियाली के साथ जुड़ा हुआ है। इस दिन को हम त्यौहारों की शुरुवात मानते हैं जो कि होली पर जाकर अंतिम त्योहार टोनही मंत्र सिद्ध करने का दिन - हरेली...अमावस की घोर अंधेरी रात! घोर अंधेरा! नदी के उस पार श्मशान में बार-बार बंग-बंग करके जलती-बुझती कोई चीज! छत्तीसगढ़ में शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा जिसने कभी ऐसे दृश्य के बारे में ना सुना हो। उस जलती-बुझती ...

 बड़े ब्लॉगर - छोटे ब्लॉगर बड़े ब्लॉगर - यार तुम लोग अभी अभी ब्लागिंग में आये हो जमने के लिए जी-तोड़ मेहनत करनी पड़ेगी । छोटे ब्लॉगर - क्या क्या करना पडेगा भाई साहब । बड़े ब्लॉगर - सबसे पहले तो स्थापित ब्लागरों के संपर्क में रहना पडेग...लेह .... अब यादें ही शेष हैलेह बाजार के स्‍वागत द्वार में मित्र ऋषि तिवारी खारदुंगला रोड में थम से गए झरने पर मेरे मित्र हजारों किलोमीटर दूर, दुनिया के सबसे उंचे मोटरेबल रोड पर काम करते मजदूरों के मुह से गुरतुर गोठ छत्‍तीसगढ़ी सुन...

"विश्व में आतंकवाद का बढ़ता दायरा" - शाहनवाज़हरिभूमि के आज [10 अगस्त] के संस्करण में प्रष्ट न. 4 पर मेरा लेख)* आज सारे विश्व को आतंकवाद ने घेरा हुआ है। अलग-अलग देशों में हिंसक गतिविधियों के अनेकों कारण हो सकते हैं, परन्तु आमतौर पर यह प्रतिशोध की भा...बुलंद का शानदार 21 माह का सफरपत्रकारिता के क्षेत्र में नए आयाम स्थापित करने और नई आजादी की लड़ाई में निकल चुके बुलंद परिवार ने रविवार 1 अगस्त को शानदार कार्यक्रम आयोजित किया। बुलंद परिवार के इस आयोजन में परिवार के लोग न केवल शिरकत किए बल...

न होता मैं तो क्या होताआज प्रस्तुत है ग़ालिब साहब की यह गज़ल जो मुझे बेहद पसंद है * *न था कुछ तो ख़ुदा था कुछ न होता तो ख़ुदा होता * *डुबोया मुझको होने ने , न होता मैं तो क्या होता * *हुआ जब ग़म से यों बेहिस, तो ग़म क्या सर के क...'लंकेश' नाम रखने से क्या वो सचमुच रावण हो जाता?आज भी बच्चों के जन्म पर छठी के दिन पन्डित से पूजा-पाठ और यज्ञ आदि करवा कर कुण्डली बनवाने और राशि,नक्षत्र आदि से नाम निकलवाने की रीत है। बिटिया का नाम 'उ या ऊ' से निकला तो मैनें बिटिया का नाम उर्वशी रखा। घर...

हरियाली की आप सभी को बहुत बहुत शुभकामनाएंआप सभी को हरियाली की बहुत बहुत शुभकामनाएं* *जादू टोना मन्त्र-तंत्र, कलजुग के सारे यंत्र-तंत्र * *रख सद्भाव करें जागृत, आवें काम सर्वदा जनहित * *आपदाओं को दूर करे, आतंकी अत्याचारी डरे * *विश्व-शांति मिशन ...पीडीऍफ़ फाइल को बनाये Exeएक और पीडीऍफ़ टूल जो आपके पीडीऍफ़ फाइल को बिना पीडीऍफ़ रेअदेर के भी देखने कि सुविधा देता है । यही नहीं इसमें आप अपने पीडीऍफ़ फाइल को पासवर्ड से भी सुरक्षित कर सकते हैं । पीडीऍफ़ फाइल को प्रिंट न किया जा सके और..

तुम क्यूँ मेरा पीछा करती होसुबह हो या दोपहर हो , जब मैं बाहर जाती हूँ , कभी आगे चलती हो , कभी पीछे , पर सदा साथ साथ चलती हो , मुझे कारण पता नहीं होता , तुम क्यूँ मेरा पीछा करती हो , तुम क्या चाहती हो मौनव्रत लिए रहती हो , बार बार मुझ...तू ही मुझे संवार दे कुछ वियोगी मन हुआ तन भी ना अब साथ दे कोई ऐसा पल नहीं जो मन को मेरे साध दे साध मन की थी कभी खुशिया सराहे फिर मुझे बुझ गए आंसू में सब दीप जितने थे जले मुश्किल हूँ मैं या वक़्त मुश्किल है मेरा मिलता भ...

पर्यावरण रा दूहाप्रदूशण नै रोकणो, सै सूं पैलो काम। जे काबू ओ नीं हुयो, बचा नीं सके राम।। रंग-बिरंगो जैर‘तो, रच रैयो पोलीथीन। फैषन, सुविधा कारणै, जीवण मौत अधीन ।। नई है सुद्ध खावणो, नीं है निरमल नीर। आभै में विस घुल रयो, ह...दीवाल पर टंगी घडीदीवाल पर टंगी घडी कलियों पर बंधी घडी से भिन्न होती है मौन होती है सब कुछ देख कर भी और नहीं करती कोई प्रतिरोध कलाई घडी की तरह नहीं उतर जाती हाथो से जब चाहे तब उसे पता है रात कैसे करवटों में गुजरी है और ...

मेरा हिंद !! मेरे ख़यालों की वादी है ....मेरा हिंद !! मेरे ख़यालों की वादी है सपनों में आज़ादी है, मैं आज भी शहीदों के लिए रोता हूँ, कर्जे में राष्ट्र को डूबोता हूँ, पुरखों ने जो खून बहाया है उसका मुआवज़ा मैंने हर जगह से उठाया है, शहीदों क...दीनदयाल शर्मा की 2 शिशु कवितायेँ*चूहा* *चूहा आया, चूहा आया, चूँ-चूँ करता चूहा आया। पूँछ हिलाता चूहा आया मूँछ हिलाता चूहा आया। देखो वह कितना फुर्तीला कोई उसको पकड़ न पाया।* * * *बिल्ली* *बिल्ली आई, बिल्ली आई,* *पूँछ हिलाती बिल्ली आई।* 

भीगी खामोशीखामोशियों की पैरहन को आँखों की बारिश ने भिगो दिया है इतना कि चिपक कर रह गयी है जेहन से इसे उतारने की कोशिश भी नाकाम हो चली है .. . 'लिव-इन-रिलेशन में बेवफाई कोई अपराध नहीं; यह एक करार है, जिसका रोजाना नवीनीकरण होता है' -हाई कोर्टदिल्ली हाई कोर्ट ने कहा है कि लिव-इन रिलेशनशिप में रहते हुए अगर एक पक्ष रिश्ते से बाहर आ जाए तो दूसरा बेवफाई की शिकायत नहीं कर सकता। हाई कोर्ट ने कहा कि ये रिश्ते आकस्मिक होते हैं और किसी डोर से बंधे नहीं ..

सारे तथाकथित....यह ग़ज़ल उन मित्रों के लिये हैं जो बहुत अच्छे इनसान है मगर तथाकथित लोगों से हैरान-परेशान है. आज हम यही देख रहे है हर कहीं तथाकथित लोग ही नायक बने हुए है. फिर भी....मैं मानता हूँ कि एक दिन सच जीतता है. प्रति...कश्मीर की समस्या कश्मीरियों की नहीं है कश्मीर की समस्या हिन्दुस्तानियों की है .हड़बड़ी में आज़ादी लेने के चक्कर में आधा कश्मीर, आधा पंजाब ,आधा बंगाल और पूरा सिंध हमने खो दिया .भारत की आजादी के समय एक अधूरा कश्मीर हमें मिला या कहें मेजर सोमनाथ शर्मा जैसे परमवीरो की शाहदत के कारण 

हरियाली 10 अगस्त को हरियाली अमावस्या है यह प्राकृतिक त्यौहार है छत्तीसगढ़ में इसे हरेली त्यौहार के नाम से बड़े धूमधाम से मनाया जाता है.आज का दिन प्रकृति के सुरक्षा के लिए संकल्प लेने का दिन है भविष्य में जल...माफी गलती का हल नहीं, गलती के कारणों को खुद अपने अंदर तलाशना चाहिए कल बोधि भाई का मेल मिला, उन्हों ने विनय पत्रिका पर अपने आलेख "बोलने पर जीभ और छीकने पर नाक काटने वाले शब्द हीन समाज में आपका स्वागत है" पढने का आग्रह किया था। मैं ने इस विषय पर लिखा बहुत पढ़ा है लेकिन मैं ..

एक रिपोस्ट - ..और धोती पहनने लगे नौजवान - खुदीराम बोस के बलिदान दिवस पर विशेषआजादी की लड़ाई का इतिहास क्रांतिकारियों के त्याग और बलिदान के अनगिनत कारनामों से भरा पड़ा है। क्रांतिकारियों की सूची में ऐसा ही एक नाम है खुदीराम बोस का, जो शहादत के बादइतने लोकप्रिय हो गए कि नौजवान ए...विदेशी भाषायों को सीखने के लिए सबसे प्रभावकारी सोफ्टवेयर “Rosetta Stone” ,साथ ही इसके कुछ विकल्प(Alternatives) भीअब तक का सबसे बढ़िया और लोकप्रिय विदेशी भाषाएँ सिखाने वाले सोफ्टवेयर की बात की जाये तो “Rosetta Stone” नाम सबसे पहले आता है | अगर वैसे “Rosetta Stone” की खोज की जाये तो एक विशेष “शिल्पकृति” होती थी जो म....

एक पटरी की रेल

उदयपुर का आमंत्रण देती कुछ तस्‍वीरें, आएंगे ना? [21]-- जरुर आएंगे जी

आज़ादी से पहले, आज़ादी के बाद...खुशदीप--लूट सके तो लूट

यह कैसे पता किया जाए कि काटने वाला साँप ज़हरीला था अथवा नहीं?--साँप की फ़ितरत से

कुत्ते और उन्हें पालने वाले कुत्ते - एक इंसान की व्यथा --जारी रखें कथा

तेरा स्वागत है लड़की -सतीश सक्सेना--उम्दा चित्र है

बुरुंश के फूल--बहुत सुंदर होते हैं।

चलते-चलते व्यंग्य चित्र

 



ब्लाग4वार्ता को देते हैं विराम--आपको ललित शर्मा का राम-राम

40 टिप्पणियाँ:

150वी पोस्ट की बधाई .ब्लाग वार्ता प्रतिदिन एक बहुत मुश्किल काम तो है ही . बिना अदम्य इच्छाशक्ति के असम्भव भी है . आपकी ऊर्जा को भी सलाम

इस सफलता के लिए आपको बहुत बहुत बधाई ललित जी .. आजकल शिवम जी का प्रयास भी बहुत रंग ला रहा है !!

१५० वी पोस्ट पर बधाई स्वीकारें जी

150वी पोस्ट की बधाई...
और वार्ता तो होती ही है बढ़िया....

बहुत-बहुत बधाई!
--
आपकी ऊर्जा को नमन!

150वी पोस्ट की बधाई और ऐसे ही सुहाना सफ़र चलता रहे, यही कामना है.

बढ़िया....आभार!!

@ संगीता पुरी जी

सभी की समवेत मेहनत और लगन से हम इस मुकाम तक पहुंचे हैं, * शिवम् मिश्रा * मास्टर जी * राजीव तनेजा * सूर्यकान्त गुप्ता
* संगीता पुरी * ताऊ रामपुरिया* Yashwant Mehta "Yash" * राजकुमार ग्वालानी * गिरीश बिल्लोरे आदि ने भरपूर सहयोग दिया। सभी को शुभकामनाएं

बहुत अच्छी प्रस्तुति।
राजभाषा हिन्दी के प्रचार-प्रसार में आपका योगदान सराहनीय है।

१५० वी पोस्ट की बधाई :)
और लिंक्स भी अच्छे मिले..कुछ पढ़े हुए लिंक्स भी हैं, और कुछ पढ़ना अभी बाकी है

ब्लाग4वार्ता की 150वीं पोस्ट पर बहुत बधाई। किसी भी ब्लाग को नियमित चलाना कठिन काम है। हाँ एक तंत्र विकसित कर के यह सब किया जा सकता है।

150 वी पोस्ट पर बहुत-बहुत बधाई! हमेशा की तरह अच्छे और जानकारियों से भरे हुए लेखों का संकलन......... बहुत खूब! यह मंच अपने आप में किसी भी ब्लॉग अग्ग्रीगेटर से कम नहीं है.

मूंछ वाले बाउजी,
नमस्ते!
बधाई हो!
आशीष

मेरे लेख को शामिल करने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद!

150 वीं वार्ता के लिए आपको और इस ब्लॉग से जुड़े सभी सदस्यों को बधाई ....अच्छे लिंक्स मिले ..आभार

नि:स्‍वार्थ भाव से किए जा रहे इस कार्य के लिए आपको बधाई। 150 पोस्‍ट होने पर भी बधाई। बाधाएं तो आएंगी लेकिन आपका मन सैनिक का है इसकारण आप सारी बाधाओं को दूर करेंगे और सारे ब्‍लाग जगत को सुरक्षित रखेंगे, बस यही कामना है।

150वीं पोस्ट की हार्दिक बधाई!

बड़े दिन बाद आपके संकलनों को देख पाया ...बढ़िया लेख दिए हैं ललित भाई शुभकामनायें

150 वी पोस्ट? बाह..बाह.. बहुत-बहुत बधाई! बढ़िया...अच्छे लिंक्स.शुभकामनायें

बहुत बहुत बधाई हो डेढ सौंवीं पोस्ट की ...और वार्ता की निरंतरता को बनाए रखने की ...शुभकामनाएं आपको

ब्लाग4वार्ता की 150वीं पोस्ट के लिए बहुत-बहुत बधाई...

सचिन तेंदुलकर दुनिया में डे़ढ़ सौ से ऊपर की पारियां खेलने में अव्वल हैं...

ऐसे ही ब्लॉग वार्ता के आप सचिन हैं...

जय हिंद...

bahut bahut badhaai ....
rachnaa shamil karne ke liye dhanyawaad

150वीं पोस्ट की हार्दिक बधाईयाँ। यह आप सबकी लगन और निष्ठा के बल पर ही संभव हो सका है।

ललित भाई , ब्लॉग ४ वार्ता की १५० वीं पोस्ट पर बहुत-बहुत बधाइयाँ और शुभकामनाएं !
वैसे यह तो सिर्फ़ शुरुआत है !

@ संगीता दीदी आपका बहुत-बहुत आभार !

आज ब्लॉग ४ वार्ता की इस १५० वी पोस्ट में मेरी पोस्ट को शामिल कर सम्मानित करने के लिए आपका बहुत बहुत आभार !

आप इतने अच्छे ढंग से इस मंच को सवारते है कि इस ब्लॉग की नियमित पाठक हो गई हूं|अच्छी वार्ता के लिए बहुत बहुत बधाई ब्लॉग पर मेरी रचना को स्थान देने के लिए आभारी हूं |
आशा

१५० वी वार्ता की बधाई ..रोचकता का ये सफर यूँ ही निरंतर चलता रहे यही कामना है.

आज ब्लॉग 4 वार्ता की इस 150वी पोस्ट में मेरी पोस्ट को शामिल कर सम्मानित करने के लिए आपका बहुत - बहुत आभार....

बहुत बहुत बधाई ललित जी !

150वी पोस्ट की बधाई...ये सफर यूँ ही निरंतर चलता रहे

ब्लाग4वार्ता की 150वीं पोस्ट के लिए बधाईयां ही बधाईयां जी. बहुत खुशी हो रही है.

रामराम

ललित जी ,
बहुत बहुत बधाई .......!!

गुवाहाटी से लौट आये क्या .......?

150वीं 'ब्लॉग4वार्ता' पोस्ट की हार्दिक बधाई

आपके दृढ़ संकल्प ने जिस तरह से इस विधा में चलते रहे कथित एकाधिकार को खतम कर अन्य कईयों को इस राह पर चलने हेतु प्रेरित किया है वह तारिफ़ेकाबिल है।

आप सबकी लगन, इसे नये सोपान की ओर ले जाए, यही कामना

इस मंच के सभी साथियों सहित आपको पुन: बधाई व शुभकामनाएँ

बी एस पाबला

बढ़िया मेहनत भरी चर्चा.

150वी पोस्ट की बहुत-बहुत बधाई !!

बहुत सारे ब्लॉग्स को शामिल किया है। आभार।
घुघूती बासूती

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी में किसी भी तरह का लिंक न लगाएं।
लिंक लगाने पर आपकी टिप्पणी हटा दी जाएगी।

Twitter Delicious Facebook Digg Stumbleupon Favorites More