सोमवार, 2 अगस्त 2010

नेता और कुत्ता-रिश्तों के तार कभी नहीं टूटते-ब्लाग4वार्ता-शिवम मिश्रा


प्रिय ब्लॉगर मित्रो ,
प्रणाम !

ब्लॉग जगत का एक चक्कर हो जाए ? 
लीजिये हाज़िर हूँ एक और ब्लॉग वार्ता ले कर इस ब्लॉग 4 वार्ता  के मंच से ! आशा है हर बार की ही तरह आप को यह ब्लॉग वार्ता भी पसंद आएगी !  

सादर आपका 


-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------


फ्रेंडशिप डे :- मुबारक हो







तेरे चाहने वाले, तमाम बढ़ गए है| :- यह तो बढ़िया खबर है !

वाह रे बेरोजगारी… :- तू जो ना कराए कम !



नेता और कुत्ता :- एक जैसे नहीं लगते .............कभी कभी !!??


हिंदी सबके लिए :- बिलकुल सब के लिए !





रविवार भोर ६ बजे :-  क्या हुआ था ??


सांप्रदायिक सौहार्द ............ इसे कहते है :- आज के दौर में शायद....... हाँ !

रिश्तों के तार कभी नहीं टूटते..... :- टूटने भी नहीं चाहियें !

सूखे फूल  :- या ख्वाब ??

टिप्पणियां स्वतः आ आकर व्यंग्य करती है!! :- इस लिए तो उन का इंतज़ार रहता है !


आदमी को भी मयस्सर नहीं इनसां होना :- NICE !

दीवारों पर पेंट की जा सकने वाली बैटरी! :- कमाल की जानकारी !

यह कौन सी भाषा है विभूति जी? :- शर्मनाक !!

गड्ढे में हाथी :-  क्या सच में ?

दोस्ती दिवस :-  की शुभकामनाएं !

खाओ मनभाता, पहनो जगभाता और लिखो....... :- इस का जवाब कहाँ मिलेगा ??

वो सारे ज़ख़्म पुराने, बदन में लौट आए :- पर कैसे ??

द डे व्हेन एवरीथिंग वेंट रॉंग.....वेल..नॉट एवरीथिंग :) :- गनीमत है !

सावन की बरसात :- बरसी कहाँ कहाँ ??

कलमाड़ी और कौमन्वेल्थ! :- एक दूजे के लिए !

ललित भाई आपने मुझे मेरा पिटना याद दिला दिलाया..!! :-  सही किया या गलत ?

सर्वत जमाल का कहना है : आप सुन-समझ रहे हैं न ? :- सुन तो रहे है ......समझ कुछ नहीं आ रहा !!

अपने गुलाम होने का एहसास मरने न दीजिये --- इसे जिन्दा रखना ही चाहिए :- ऐसा क्यों ?

सिलसिला :- चलने दिया जाए !

तस्वीरें बोलती हैं शब्दों से ज्यादा :- सही कहा !

-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
बस आज की ब्लॉग वार्ता यहीं तक ........अगली बार फिर मिलुगा एक और ब्लॉग वार्ता के साथ तब तक के लिए ..........

जय हिंद !!

39 टिप्पणियाँ:

बढ़िया लिंक्स!!


सभी पर जाना शेष है. :)

बेहतरीन चर्चा! आभार...

चर्चम् शिवम् सुंदरम...

चर्चा के साथ एग्रीगेटर का काम भी कर रहे हो...बढ़िया लिंक्स एक जगह ही मिल जाते हैं...

जय हिंद...

शिवम भाई
नज़र-ए-इनायत का शुक्रिया

धन्यवाद, शिवम जी।

विस्तृत और बढ़िया वार्ता ...आभार

आज आपने कई नए ब्लाग पढवाए ..आनंद आ गया !बढ़िया चर्चा के लिए आपका आभार !

आपकी चर्चा नें आनन्द से सराबोर कर डाला....बढिया लिंक्स संजोये!
आभार्!

सुन्दर चर्चा ....अच्छे लिंक्स मिले....शुक्रिया

shivam bhai
bahut hi acchi charcha ki apne abahar

सुन्दर संकलन किया है आपने -आभार !

वाह ..मजा आ गया :)
और इसमें तो अपना भी लिंक मौजूद है
शुक्रिया आपका, अपने चर्चा में मेरा भी पोस्ट शामिल करने के लिए...:)

शिवम भाई, आपकी खोजी दृष्टि का जवाब नहीं।
…………..
स्टोनहेंज के रहस्यमय पत्थर।

vistrit charcha ..bahut sare links mile ..par mera PC kharab hai :(

शिवम जी, बहुत-बहुत शुक्रिया मेरी पोस्ट को शामिल करने के लिए. यहाँ और भी अच्छे लिंक मिले हैं, जिन्हें बुकमार्क कर लिया है. आज जब ब्लॉगवाणी बंद हो गयी है और चिट्ठाजगत ही एकमात्र एग्रीगेटर बचा है , तो ये चर्चाएं बहुत सहायक होती हैं.

ब्लॉग चर्चा का यह निराला अंदाज भी बढ़िया लगा शिवम् जी !

बहुत बढिया .......जमाए रहिए ..

शिवम जी, आपका और इस मंच का बहुत बहुत धन्यवाद।

मेरी पोस्ट शामिल करने के लिए धन्यवाद.
..सभी को पढ़ना शेष है.

बहुत बढिया चर्चा।
अभी एक के बाद एक सारे लिंक विजिट करना शुरु करते हैं।

आप सब का बहुत बहुत आभार !

अरे भाई...इत्ती ढेर सारी मेहनत कैसे कर लेते हो?.... :-)
बढ़िया लिंक्स से सुसज्जित सुन्दर चिट्ठाचर्चा

बढ़िया लिंक्स एक जगह ही
कई पोस्ट्स तो मैं देख ही नहीं पाया

आभार

बी एस पाबला

मेरी पोस्ट शामिल करने के लिए धन्यवाद

बहुत बहुत बधाई शिवम् जी .. आज तो आपने कमाल ही कर दिया है .. इतनी टिप्‍पणियों से सिद्ध भी हो गया !!

बहुत अच्छी प्रस्तुति।
राजभाषा हिन्दी के प्रचार-प्रसार में आपका योगदान सराहनीय है।

शिवम भईया, क्या धासू कलेक्सन है!

lokatantr jindabad sabhi ko apni apani kahane , karane ka purn adhikar hai , dhanyabad ji .
arganik bhagyoday .blogspot.com

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी में किसी भी तरह का लिंक न लगाएं।
लिंक लगाने पर आपकी टिप्पणी हटा दी जाएगी।

Twitter Delicious Facebook Digg Stumbleupon Favorites More