सोमवार, 16 अगस्त 2010

स्‍वतंत्रता दिवस विशेषांक :-२ - ब्‍लॉग4वार्ता - शिवम् मिश्रा

प्रिय ब्लॉगर मित्रो 
प्रणाम !

सब से पहले आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की बहुत बहुत बधाइयाँ और शुभकामनाएं ! 

आज का दिन वैसे तो हर भारत वासी के लिए बहुत खास रहता है पर धीरे धीरे इस दिन से जुडी हुयी भावनाएं ख़त्म होती जा रही है ! कारण बहुत से है .......पर सब से बड़ा कारण हमारे राजनेताओ का हम लोगो के प्रति रवैया है.............यह लोग हम लोगो को सिर्फ़ अपना वोट बैंक मान कर चलते है ! हमारी दुःख तकलीफों की इन को कोई परवाह नहीं ! 

आशा है कि इन लोगो का यह रवैया बदलेगा और अपना देश फिर सोने की चिड़िया बनेगा !
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
 
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
आइये अब चलते है ब्लॉग जगत की सैर को ......ज़रा देखें आज के दिन कौन क्या कर रहा है !

ब्लॉग 4 वार्ता  के मंच से पेश है आज की ब्लॉग वार्ता !

सादर आपका 

-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
 
भारत वर्ष हमारा है...... :- बिलकुल है .......इसमें क्या शक है !!

उसने कलमाड़ी को छू लिया था! :- तो क्या करेंट लगा गया ??

जश्न ए आज़ादी :- हम भी मनाएंगे !


माँ को मेरा नमन है ! :- वन्दे मातरम !

अंग्रेजी मानसिकता का तिरस्कार ही सही मायने में आजादी के पर्व को मनाना है :- गोरे साहबो को भगा दिया अब भूरे साहबो को भगाना है ! 

हमें नाज़ है आप सब पर !! :- होना भी चाहियें !


छोटू सपेरे की मोनी :- को क्या हुआ ?





यह क्या सिखा दिया मैंने ;-) - सतीश सक्सेना :- यह क्या कम है कि कुछ सिखाया तो सही...........आज कल तो लोग मुफ्त में गाली भी नहीं देते !


स्वतंत्रता दिवस के पावन पर्व पर आप सभी को हार्दिक शुभकामनाये ... :- धन्यवाद..............इसको पावन पर्व कहने के लिए .......आज कल तो लोग कुछ और ही कहते नज़र आते है !

क्या सोचकर इस जश्न मे शरीक होये? :- अपना फ़र्ज़ समझ कर यह क़र्ज़ चूका दीजिये !


आजाद रहकर नौकरी करेंगे :- कोशिश कर लीजिये ........." दिल के खुश रखने को ' ग़ालिब ' यह ख्याल अच्छा है " !

अभी तो देश को आजाद कराना है -- :- हम भी आपके साथ है !


ये आजादी भी कोई आजादी है लल्लू! :- हम तो यही समझते आये आज तक !


वन्दे मातरम्... :- माँ तुझे सलाम !

चार चित्र आज़ादी के… :- बेहद  उम्दा !


तिरंगा उन्हीं की सुनाता कहानी :-  वतन के लिए जो फ़ना हो गए हैं ! 



पीपल का पेड़, दद्दू लोग और हमारा मिडास टच :- भाई वाह...... क्या कहने आपके !


आज़ादी :-  कुछ को मिलनी बाकी है !

जीवन के चार पहिये :- कभी तो साथ चलते है............ कभी नहीं !


सोते वक्त आखिर छींक क्यों नहीं आतीं हैं ? :- शायद उसको भी नींद आ जाती है !

बोल कि लब आज़ाद हैं तेरे :-  बोल ये थोड़ा वक़्त बहोत है !

स्वाधीनता दिवस पर … क्या यही है स्वतंत्रता! :- क्यों नहीं है क्या ?

चिंदि-चिंदी बीनती, फिर भी नहीं हताश :- क्युकी इन के मन में एक नए भारत की है आस !

नया सफ़र ........एक नए चेहरे के साथ :- अरे .........अब समझे .......common wealth games के चक्कर में डेंटिंग पेंटिंग हुआ है !!

करते है साक्षर ही अधिक भ्रूण हत्या ...............! :- शर्म क्यों उनको उम्र भर नहीं आती !

परिभाषाये - आज के युग की :- रोज़ बदलती है !

बस लूंट हुई स्वाधीन :- हमारे देश में !

स्वतंत्रता दिवस पर विशेष : सौगंध तुम्हे सत्ताधीशों, सच बतलाओ यह लोकतंत्र है :-  यहाँ कौन है जो जवाब दे ..........कोई नहीं !

स्वतंत्रता दिवस विशेष - रामप्रसाद बिस्मिल की आत्मकथा :- बहुत खूब !

हिन्दुस्तान है हमारा, हम है इसकी शान :- जय जवान, जय किसान और जय विज्ञानं !

सड़क मार्ग से महाराष्ट्र: 'पाकिस्तान' व उत्तरप्रदेश की सैर, सट्टीपिकेट का झमेला, एक बे-सहारा, नालायक, लाचार और कुछ कहने की कोशिश करती 'वो'  :- यात्रा जारी है !

“अपनी आजादी” (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री “मयंक”) :- को हम हरगिज मिटा सकते नहीं !

प्रेम प्रदर्शन, पत्नी की शिकायत और मेरा नजरिया :- यह क्या खिचड़ी पका रहे हो भईया ?

पीपली लाइव का इतना पोस्टमॉर्टम क्यों...? :- आदत से मजबूर है भाई ....क्या करें !!

हिंदी फिल्मों के निराले कवि प्रदीप :- शत शत नमन उनको !

ब्लॉगिंग का एक साल और आपका साथ (1)...खुशदीप :- कैसा रहा ?

बहुत दिनों से नहीं बजाई थी सो आज बजाता हूँ अपनी डफली अपने हाथ क्यों कि पूरे ५०० पोस्टो का हो गया है आपका और मेरा साथ ! 

जी हाँ  आज मेरे ब्लॉग बुरा भला  पर ५०० पोस्टे पूरी हो गयी है ! साथ साथ यह भी बता देता हूँ कि ब्लॉगिंग को भी ११ साल पूरे हो गए है !

५०० वी पोस्ट :- ब्लॉगिंग ने पूरे किए ११ साल | :- मुबारक हो सब को !

-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

आज की ब्लॉग वार्ता बस यहीं तक ........अगली बार फिर मिलुगा एक और ब्लॉग वार्ता के साथ तब तक के लिए ...........

जय हिंद !!

20 टिप्पणियाँ:

Sundar Varta...Bahut Bahut Dhanyawaad.
Swatantrata Divas ki dheron shubhkaamnaae!!

बहुत अच्छी चर्चा।


राष्ट्रीय व्यवहार में हिन्दी को काम में लाना देश की शीघ्र उन्नति के लिए आवश्यक है।

उम्दा वार्ता लगाई है आपने
आजादी के चिट्ठों की चर्चा के लिए शुभकामनाएं

शिवम जी,उम्दा वार्ता लगाई है आपने
आजादी के चिट्ठों की चर्चा के लिए शुभकामनाएं

मेरी पो्स्ट शामिल करने के लिए आभार

बहुत अच्छी चर्चा...मेरी पोस्ट इस चर्चा में शामिल करने के लिए धन्यवाद ..:)

उम्दा वार्ता लगाई है आपने
आजादी के चिट्ठों की चर्चा के लिए शुभकामनाएं

स्वतंत्रता दिवस की बहुत बहुत बधाइयाँ और शुभकामनाएं आप सभी को !!

शिवम जी ,
आप के वाक्य जो पोस्ट के टाइटिल के साथ होते हैं ,उन्हें पढ़ना अपने आप में बहुत सुखद है
आप का बहुत बहुत शुक्रिया कि आप ने ब्लॉग वार्ता में मेरी भी पोस्ट शामिल की
एक बार और शुक्रिया इतने सारे लिंक देने के लिए

वाह...चर्चा और ऐसे खूबसूरत अंदाज़ में...
साथ ही इतने अच्छे ब्लॉग्स के लिंक भी....
शुक्रिया.....स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं.

मनभावन लिंक्स के साथ एक अच्छी चर्चा |बधाई
आशा

अरे वह, एक ही जगह इतने सारे लेख.

मेरा ब्लॉग
खूबसूरत, लेकिन पराई युवती को निहारने से बचें
http://iamsheheryar.blogspot.com/2010/08/blog-post_16.html

उम्दा वार्ता लगाई है आपने
आजादी के चिट्ठों की चर्चा के लिए शुभकामनाएं

बहुत खूब !
बेहद प्रभावशाली पोस्ट !
samay हो तो अवश्य पढ़ें:

पंद्रह अगस्त यानी किसानों के माथे पर पुलिस का डंडा
http://hamzabaan.blogspot.com/2010/08/blog-post_15.html

आजादी स्पेशल ये वार्ता बहुत अच्छी लगी .

आभारी हूं शिवम जी. सुन्दर चर्चा.

बढ़िया लिंक्स...उम्दा चर्चा

आप सब का बहुत बहुत आभार !

बहुत अच्छी चर्चा...

आजादी के चिट्ठों की चर्चा के लिए शुभकामनाएं,बहुत बहुत आभार.

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी में किसी भी तरह का लिंक न लगाएं।
लिंक लगाने पर आपकी टिप्पणी हटा दी जाएगी।

Twitter Delicious Facebook Digg Stumbleupon Favorites More