शुक्रवार, 20 अगस्त 2010

ब्लॉग गुरु की पाठशाला - पाठकों और टिप्पणियों के लिये क्या ये तरीका सही है - ब्‍लॉग4वार्ता - शिवम् मिश्रा


प्रिय ब्लॉगर मित्रो 
प्रणाम !

रुपये के प्रतीक चिन्ह के इस्तेमाल को लेकर उत्साह चरम पर है। मीडिया में तो इसका इस्तेमाल खूब हो ही रहा है, अब इलेक्ट्रॉनिक्स उपकरण बनाने वाली कंपनियां भी इस मामले में पीछे नहीं रहना चाहतीं। उनके लिए तो रुपये का प्रतीक चिन्ह फैशन सिंबल बन गया है। यही वजह है कि कंप्यूटर का कीबोर्ड हो या मोबाइल फोन का कीपैड, कंपनियों ने रुपये के प्रतीक चिन्ह को अलग जगह देने की कोशिशें तेज कर दी हैं।
देश की प्रमुख आईटी हार्डवेयर निर्माता टीवीएस इलेक्ट्रॉनिक्स ने 15 अगस्त को 'टीवीएस गोल्ड भारत' नाम से एक की बोर्ड लांच किया। इसमें पारंपरिक क्वेर्टी कीबोर्ड में दिए जाने वाले टैब बटन के ऊपर रुपये का प्रतीक चिन्ह दिया गया है। चेन्नई की इस कंपनी ने नए कीबोर्ड की कीमत 1,495 रुपये रखी है।
15 जुलाई को सरकार ने जब रुपये के प्रतीक चिन्ह को मंजूरी दी थी, तब विशेषज्ञों ने कहा था कि इसे कंप्यूटर में शामिल करना मुश्किल होगा। कंपनियों ने इस कठिन काम को एक महीने के भीतर ही कर दिखाया है। रुपये के प्रतीक चिन्ह का इस्तेमाल अब तक एक फॉन्ट को डाउनलोड कर किया जाता है। इसे फोरैडियन टेक्नोलॉजी ने लांच किया है, लेकिन यह पहली बार है जब कीबोर्ड में इसके लिए अलग जगह बनाई गई है।
रुपये के प्रतीक चिन्ह के इस्तेमाल को बढ़ावा देने के लिए लावा मोबाइल्स ने भी ऐसे ही प्रयास किए हैं। मोबाइल बनाने वाली इस देसी कंपनी ने अपने कीपैड में रुपये के प्रतीक चिन्ह के लिए अलग 'की' बनाई है। कंपनी ने इस मोबाइल फोन को 'बी5' नाम दिया है। बाजार में यह 4 हजार 400 रुपये में उपलब्ध है।
आप सब को एक काम की जानकारी तो दे दी ......................अब आप को सीधे लिए चलता हूँ आज की ब्लॉग वार्ता की ओर !  

ब्लॉग 4 वार्ता  मंच की यह १५९ वी ब्लॉग वार्ता होगी .........आशा है आप सब को यह वार्ता पसंद आएगी !

सादर आपका 

-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

कुम्भ के बिछड़े भाई-बहिनों का मिलन..-----दीपक मशाल :- मनमोहन देसाई की कोई नयी फिल्म है क्या ?



भला काहे देखें पीपली लाइव :- आइना देखने के लिए !





लघुकथा - धूलकण और बादल .... :- दोनों है अपनी पहेचान की खोज में ! 



न्यूयार्क : संवेदना उबाल पर हैं - एक मस्जिद यहाँ भी विवाद में है! :- बधाइयाँ जी बधाइयाँ ......वैसे खून कब बहेगा ?




पीपली [लाइव] :-  बिलकुल लाइव !




साकार सरासर और सरेआम :- बहुत कुछ हो गया !


धर्म में इतने अंधे कैसे हो जाते हैं माँ-बाप??? :- यहीं तो समझ के बाहर है !

अनाज सड़ने में यमराज का हाथ :- यमराज को भी सरकार ने मंत्री मंडल में शामिल कर लिया ??

आंत्रशोध पर शोध का परिणाम ---ओ आर एस --दस्तों की रामबाण दवा -- :- आभार जानकारी का !

-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
आज की ब्लॉग वार्ता बस यहीं तक .........अगली बार फिर मिलुगा एक और ब्लॉग वार्ता के साथ तब तक के लिए ......

जय हिंद !!

29 टिप्पणियाँ:

रूपए के प्रतीक चिन्‍ह के बारे में रोचक जानकारी के साथ साथ अच्‍छे अच्‍छे लिंक्‍सो को समेटे बहुत अच्‍छी वार्ता !!

ब्लॉग4वार्ता के लिए बधाई

बहुत अच्छे लिंक दिए हैं
अब पढते हैं सबको
आभार

बहुत अच्‍छी ब्लॉग4वार्ता के लिए बधाई...

badhiyaa links...saath mein aapke comments sone pe suhaga

सुंदर प्रस्तुति!
राष्ट्रीय व्यवहार में हिन्दी को काम में लाना देश की शीघ्र उन्नति के लिए आवश्यक है।

डॉ दराल का सामयिक लेख बहुत उपयोगी है खुशदीप भाई से केरलाईट लोग आजकल बहुत चिढ़े हुए हैं उन्हें बताओ अधिक पंगे न करें ! ;-)

कुछ अनपढ़ी लिंक्स मिल ही जाती हैं यहाँ

आभार

बहुत सुन्दर प्रस्तुति...बढ़िया लिंक मिले...

बहुत अच्‍छी ब्लॉग4वार्ता के लिए बधाई..

shukriya...shivamji achchi janksri ke liye bhi.

भिन्न-भिन्न ब्लोगों की हेडिंग के साथ बेहतरीन तुकबंदी शिवम् जी !

बहुत अच्‍छी ब्लॉग4वार्ता.......

बेहद उम्दा वार्ता रही और मेरे ब्लोग को जगह देने के लिये आभार्।

इस जानकारी के लिए धन्यवाद

वार्ता बहुत अच्छी लगी..धन्यवाद
.

हा हा हा.. सही चुटकियाँ लीं आपने.. आभार..

सुंदर ब्लॉगवार्ता...जानकरी के लिए आभार

आप सब का बहुत बहुत आभार !

बहुत अच्‍छी ब्लॉग4वार्ता के लिए बधाई...

बहुत से नये लिंक हैं ....

शिवम जी ...आपका बहुत बहुत शुक्रिया मुझे भी शामिल करने का ....

बहुत बढ़िया चर्चा - माफी देर से आने के लिए !!

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी में किसी भी तरह का लिंक न लगाएं।
लिंक लगाने पर आपकी टिप्पणी हटा दी जाएगी।

Twitter Delicious Facebook Digg Stumbleupon Favorites More