सोमवार, 13 सितंबर 2010

छिछोरों से मुखातिब-निकलेंगे फिर जुल्म मिटाने--ब्लॉग4वार्ता---ललित शर्मा

नमस्कार, मित्रों पर्युषण पर्व मनाया गया। यह क्षमा-याचना का पर्व है। अपने जाने अनजाने में की गयी भूल या गलती के लिए  क्षमा मांग लेना भी एक बहुत बड़ा कार्य है। क्षमा वीरस्य भूषणम् कहा गया है। विगत 365 दिनो मे जाने अनजाने, आपके दिल को दुखाया हो तो मैं पर्युषण महापर्व का आज संवत्सरी का प्रतिक्रमण करते हूए मन से, वचन से, काया से, सरल हृदय से, खमत-खामणा करता हूँ, क्षमा मांगता हूँ. अब चलते हैं आज की ब्लॉग4वार्ता पर और चर्चा करते हैं आज के कुछ उम्दा चिट्ठों की.......


ईद … जरूरत … रवायत … और पाइथागोरसआज ईद भी है और गणेश चतुर्थी भी … कहीं कहीं हरतालिका तीज भी … इन सब के लिए पूरे देश को शुभकामनाएँ …. कल सपत्नीक बाजार का रुख किया तो रास्ते में ही पता चल गया कि त्योहारों का मौसम आ गया है …. बाजारों में कप...शर्त जीतने हेतु उस वीर ने अपना सिर काटकर दुर्ग में फेंक दियाबिंधियो जा निज आण बस, गज माथै बण मोड़ | सुरग दुरग परवेस सथ, निज तन फाटक तोड़ || अपनी आन की खातिर उस वीर ने दुर्ग का फाटक तोड़ने के लिए फाटक पर लगे शूलों से अपना सीना अड़ाकर हाथी से टक्कर दिलवा अपना शरीर शूलो...

14 को चेन्नई में सजेगा भव्य दरबार राजभाषा हिन्दी का - मैं तो जा रहा हूं...........आप भी चलो !फिर आ गया है हिन्दी दिवस ! हिन्दी सप्ताह ! हिन्दी पखवाड़ा ! अर्थात हिन्दी कवियों के लिए नये सीज़न का श्रीगणेश ! इस बार अपना हिन्दी दिवस अहिन्दी भाषी प्रदेश तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में मनेगा और ध...ईद पर भी हिंसाकश्मीर में जिस तरह से अलगाव वादी नेता अपने काम को अंजाम देने के लिए भोले भले लोगों का इस्तेमाल कर रहे हैं वह किसी भी तरह से उचित नहीं कहा जा सकता है. ऐसा नहीं है की कल ईद के दिन आम कश्मीरी इस ख़ुशी के त्यौ...

आदिवासियों को कौन पूछता है...छत्तीसगढ़ में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतिन गडकरी कहने को तो प्रदेश स्तरीय कार्यक्रम में आए थे और वे यहां रमन सिंह के चक्रव्यूह में उलझकर रह गए। पूरे कार्यक्रम के दौरान मंच से आदिवासी नेता विधायक सांसद त...सुनहरा धोखा रक्तिम उषा, स्वर्णिम अरुणोदय, रवि की चमक-दमक, चन्द्र-रजत की ललक, उष्ण-शीत दिवस, झर झर झरता पावस, इन सबमें पलता मानव, कभी दिव्य, कभी दानव। अहं त्वं अन्य का जाल, क्ष...

सभी छिछोरों से मुखातिब हूं .........कुछ भी पढने से पहले आप ये पोस्ट पढ लीजीए । ..और इसके बाद ..अंदाज़ा लगाईये कि ....इसके बाद जब ये पोस्ट आई है ...तो स्थिति कैसी होगी मेरी .........। तो मैं आप सबको और साथ ही उन तमाम छिछोरों को भी बताता चलूं...पिंजरे में बंद एक पक्षीकभी स्वतंत्र विचरण करता था , चाहे जहां उड़ता फिरता था , जीने की चाह लिए एक पक्षी , जब पिंजरे में कैद हुआ था , बहुत पंख फड़फड़ाए थे , खुले व्योम में उड़ने के लिए , मन चाहा जीवन जीने के लिए , अपनों से मिलने के लिए...

मिलनआओ इस हिंदी दिवस पर अंग्रेजी का बहिष्कार न करके उसे ढूध में चीनी की तरह मिला के देखें एक प्रयोग *मिलन * मैंने सीखा है suffer ........ करना जीवन के इस छोटे से सफ़र से सौ बार तुझे चाहा पर रही ba...“700 वाँ पुष्प” “भारत माँ के मधुर रक्त को, कौन राक्षस चाट रहा?” *आज देश में उथल-पुथल क्यों, क्यों हैं भारतवासी आरत? कहाँ खो गया रामराज्य, और गाँधी के सपनों का भारत? आओ मिलकर आज विचारें, कैसी यह मजबूरी है? शान्ति वाटिक...

शिवाला में धारा पाठशिवाला में भादो अमावस्या पर मुखिया श्री मनोज कुमार मिश्र ने धारा पाठ का आयोजन किया। तस्वीर में हवन में आहूति देते दिख रहे हैं श्री मनोज कुमार मिश्र। **फोटो : रोशन मिश्र* अखबारों में खबरें अधूरी क्यों होती हैं?दैनिक भास्कर के कोटा संस्करण ने स्थानीय नगर निगम के बारे में खबर प्रकाशित की है*, " तंगी में भी बदहाली" *। यह किसी घटना से उपजा समाचार नहीं, अपितु नगर निगम कोटा की कार्य प्रणाली से संबद्ध कुछ सूचनाओँ से ...

मेरा प्यारा साथी २आप सभी का धन्यवाद, सब की शुभकामनायें शायद हेरी के काम आ जाये, लेकिन अभी तक हालत ठीक नही, आज तो सुबह से ही इसे पेशाब नही आ रहा, आधी रात के बाद बेचेन था, अब थोडा आराम से बेठा है, दवा तो इस की चल रही है, देख...आदमी की तरह चलता कुत्ता और तुम्हें मेरी याद भी नहीं आती.. हुँहसुबह से कुछ लिखने का जी किया आज... बस टाइप करता चला गया.. बाद में देखा तो ये बना... अब जो बना सो बना.. पर सोचता हूँ आपको दिखा ही दूँ.. काश तुम्हारी याद होती कोई बिल्ली जब भी वक़्त बे-वक़्त दिल-ओ-दिमाग क...

संत घिरे स्टिंग ऑपरेशनों मेंएक बार फिर संत आसाराम बापू विवादों के घेरे में नजर आ रहे हैं। अकेले बापू ही नहीं कुछ और भी नामी प्रवचनकारों का स्टिंग किया गया और लगातार दिखाया जा रहा है ।* *एक टीवी न्यूज चैनल के स्टिंग ऑपरेशन में बापू... मौत तू एक कविता है...प्रिय ब्लॉगर मित्रो * *प्रणाम !* *कैसे है आप सब ? लीजिये एक बार फिर हाज़िर हूँ* *काफी अंतराल के बाद आज फिर आपकी ख़िदमत में उपस्थित हूं |* *दोस्तों, आप सभी के लिए १९७० की मशहूर फिल्म आनंद की ये दिल को छू... 


कुछ मीठा हो जाए....आकाश में उडते बादलों को देखकर आकाश में उडते बादलों को देखकर यह खयाल आया..... ओ लै छाता तो मैं घर में ही भूल आया 2. राहे-राह सी तुरिया जांदा रा... निकलेंगे फिर जुल्म मिटानेजो प्रतिबद्ध हो कर लिखते है, उनके लिये रचना परिवर्तन का माध्यम होती है.कोशिश करता हूँ कि कुछ ऐसा लिखूं,कि लोग उसे कुछ समय तक तो याद रख सकें. लेकिन ऐसा सौभाग्य कम लोगों को ही मिल पाता है. फिर भी मेरा काम ह...

कबिता : चंदारोज रात के आवै चंदा, अउ अंजोर बगरावै चंदा। सुग्घर गोल सोंहारी बनके, कतका मन ललचावै चंदा। होतेच संझा चढ़ अगास मा, बादर संग इतरावै चंदा। डोकरा कस फेर होत बिहनिया, धीरे-धीरे जावै चंदा। तरिया पार के मंदिर ऊपर, च...जय हो - सुशील ने कुश्ती में लिखा नया इतिहासबीजिंग ओलंपिक में कांस्य पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार ने रविवार को सफलता का एक और इतिहास रच दिया। उन्होंने विश्व कुश्ती चैंपियनशिप के खिताबी जंग में स्थानीय खिलाड़ी गोगाएव अलान को 3-1 से हराया। यह उपलब्ध...

ब्लॉगिंग का इतना ही फ़साना है.ब्लॉगिंग की हर शह का इतना ही फ़साना है,* *इक पोस्ट का आना है, इक पोस्ट का जाना है...* *कहीं टिप्पणियों का टोटा, कहीं खजाना है,* *ये राज़ नया ब्लॉगर समझा है न जाना है...* *इक सक्रियता के फलक पर टिकी हुई य...इक फासले के दरम्यान खिले हुए चमेली के फूल रसोई की खिड़की से उन पर हल्की सफ़ेद रौशनी पड़ रही थी. वे चमेली की बेल पर लगे हुए फूल थे. दूधिया जुगनुओं की तहर चमकते हुए. बेल जो झाड़ी जैसी हो गई थी. जरा उचक कर गौर से देखो तो लगता था कि रात की स्याही में उ...



चलते चलते एक व्यंग्य चित्र

वार्ता को देते हैं विराम--मिलते हैं ब्रेक के बाद--कल की पहेली का हल देखने यहां पर जाईए---

23 टिप्पणियाँ:

धन्यवाद इन लिंको का..

बढ़िया लिंक है अभी पूरा तो नहीं पढ़ा पर पढेंगे जरुर ....

मुस्कुराना चाहते है तो यहाँ आये :-
(क्या आपने भी कभी ऐसा प्रेमपत्र लिखा है ..)
(क्या आप के कंप्यूटर में भी ये खराबी है .... )
http://thodamuskurakardekho.blogspot.com

सर जी
सादर
सारे लिंक देखता हूं अभी
फ़िफ़ बताता हूं

अच्छे लिंक्स ...
आभार ..!

बहुत अच्छी और विस्तृत वार्ता ...अच्छे लिंक्स मिले ..

सार्थक और सराहनीय वार्ता ...

बहुत महत्वपूर्ण लिंक हैं। इस श्रम के लिए आभार!!!

ब्लॉगिंग की चर्चा का इतना ही फ़साना है,
बढ़िया लिंक्स का बस यही ठिकाना है...

जय हिंद...

बहुत अच्छी वार्ता है अभी पूरा पढ़ना बाकि है

बहुत अच्छी और विस्तृत वार्ता ...अच्छे लिंक्स मिले ..

बेहद उम्दा .........मेरी पोस्ट को शामिल करने के लिए आपका बहुत बहुत आभार !

सार्थक और सुन्दर चर्चा।

बढ़िया लिंक के साथ बढ़िया चर्चा...

महोदय ,
बढिया वार्ता के लिए बधाई | मेरे ब्लॉग को ब्लॉग वार्ता -४ में.
शामिल करने के लिए आभार |
आशा

कार्टून जबर्दस्त्त है :) ..बढ़िया वार्ता.

बहुत अच्छी और विस्तृत वार्ता

मेरी पोस्ट को शामिल करने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद ।
बहुत अच्छे लिंक्स मिले ......

लिंक्स पढ़ते-पढ़ते यह खयाल आया
कितने अच्छे-अच्छे लोगों से आप ने मिलवाया !!!

ललित भाई , इस बेहद उम्दा ब्लॉग वार्ता में मेरी पोस्ट को शामिल कर सम्मानित करने के लिए आपका बहुत बहुत आभार !

अच्छे लिंक्स ...
आभार ..!

ललित जी बहुत खूब है आपकी ये ब्लॉग 4 वार्ता. आपने अपनी इस वार्ता में मेरी पोस्ट को शामिल की आपकी आभारी हूँ. अभी हर लिंक तक नहीं पहुंची हूँ पर जहाँ जहाँ गयी हर पोस्ट लाजवाब लगी.
आभार

ब्लॉग4वार्ता में बहुत ही पठनीय लिंकों का
सुन्दर समावेश किया गया है!

कई रंग सिमेटे दिखी ये सुन्दर चर्चा ललित सर..

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी में किसी भी तरह का लिंक न लगाएं।
लिंक लगाने पर आपकी टिप्पणी हटा दी जाएगी।

Twitter Delicious Facebook Digg Stumbleupon Favorites More