शुक्रवार, 29 अक्तूबर 2010

महाघाघ ऑफ ब्लॉगजगत--ब्‍लॉगरी का पहला पाठ ---- ललित शर्मा

नमस्कार, बीएसएनएल के नेट महाराज नाराज थे, तीन दिनों से हम कुछ काम कर ही नहीं पा रहे थे। कल रात उनकी नाराजगी दूर हूई। अब हमने एक समाधान और निकाल है आज आईडिया का नेट शेटर और ले आए। एक नाराज है तो दूसरे से काम चला लेंगे। दोनों का एक साथ नाराज होना मुस्किल है। इसलिए काम चल जाएगा। अगर दोनो नाराज हुए तो एक सिम फ़ोटोन की लेकर आएगें। लेकिन पीछा नहीं छोड़ेगें। तुम डाल-डाल हम पात-पात। अब चलते हैं आज की ब्लॉग वार्ता पर.......

सबसे पहले मनाते हैं महफूज अली का जन्म दिन..फ़िर चलते हैं घाघों के घाघ ’महाघाघ ऑफ ब्लॉगजगत’ की पोस्ट पर.अभी पता चला कि मुंबई एक, चेहरे दो हैं। नीलकमल पांडे जी कह रही हैं करवा-चौथ या जीवन बीमा. अभी समाचार मि्ला है कि जीत गया दबंग ! इन्हे ब्रिटेन में दिवाली और छत्तीसगढ़ में राज्योत्सव पर ढेर सारी शुभकामनाएं शिवम बाबु ने महफूज़ भाई, जन्मदिन की बहुत बहुत हार्दिक बधाइयाँ और शुभकामनाएं  एवं स्पेशल बधाई दी है और दो चौके आठ पढ़ें ब्‍लॉगरी का पहला पाठ पढने संत नगर के संत से मिल लिए हैं।

 शर्म की पोशाक को वह छोड़ करके आ गया   परिकल्पना पर रविन्द्र प्रभात जी लिख रहे हैं युवा सोच युवा खयालात कुलवंत हैप्पी होकर लौट आए हैं बज्ज से गिरीश दादा यह समाचार लाए हैं।मिसीर जी का भी मन राम राम करने का हो रहा है।प्रकाश के भीतर का अन्धकार दुर हो जाए तो जीवन स्वर्ग बन जाए।आखरी दिन नियम में फेर बदल कर दिया है अलबेला खत्री ने और श्रीगंगानगर में "गुंडे" की दहशत बता रहे हैं नारद मुनि।हमारे धार्मिक उत्‍सव और पर्व  के साथ ‘विजयोत्सव’ मना रहे हैं।

नेट से पैसा कैसे कमाऎं? सबसे आसान तरीका सीखना है तो कुन्नु सिंग के ब्लॉग पर जाईए।दिल में बसा के प्यार का तूफान ले चले सुनील कुमार के ब्लाग पर पहुंचे।आज फिर दिल कुछ पूछना चाहता है बस पूछते रहें, कभी न कभी तो जवाब मिल जाएगा दिल से।

चलते चलते व्यंग्य चित्र


वार्ता को देते हैं विराम--मिलते हैं ब्रेक के बाद -- सबको राम राम.................

12 टिप्पणियाँ:

धन्य भाग हमारे अच्छे लिंक मिले अल्लसुबह
मिसफ़िट:सीधी बात

हमेशा की तरह बढ़िया वार्ता

छोटी और सारगर्भित वार्ता |
आशा

अच्छे लिंक ,बढ़िया वार्ता....

अच्छे लिंक मिले बढ़िया वार्ता.

बहुत अच्‍छी वार्ता .. आभार !!

बहुत अच्छी वार्ता ..अच्छे लिंक्स मिले ..आभार

छोटी और सारगर्भित वार्ता |... मेरी कविता को शमिल करने के लिये धन्यवाद...

हमेशा की तरह बढ़िया वार्ता.

सुंदर अति सुंदर!

रामराम.

बेहतरीन लिंक्स..आभार...

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी में किसी भी तरह का लिंक न लगाएं।
लिंक लगाने पर आपकी टिप्पणी हटा दी जाएगी।

Twitter Delicious Facebook Digg Stumbleupon Favorites More