गुरुवार, 7 अक्तूबर 2010

रहस्यमयी - ब्लॉगिंग का लोकतंत्र - ब्लॉग 4 वार्ता -शिवम् मिश्रा

प्रिय ब्लॉगर मित्रो ,
प्रणाम !

आजकल नेट बाबा काफी नाराज़ चल रहे है ......सो सीधा मुद्दे की बात पर आता हूँ और ब्लॉग 4 वार्ता के इस मंच से आपको आज की ब्लॉग वार्ता की ओर लिए जाता हूँ !


सादर आपका

शिवम् मिश्रा
-------------------------------------------------------------------------------------------------

मेरे ख़्वाब ...... :- जरूर पूरे होंगे !

ब्लॉगिंग का लोकतंत्र...खुशदीप :- है भी कहीं ??

सवाल लहराती…बलखाती डेढ़ सयानी मूँछ का- राजीव तनेजा :- क्या बात है !

4.6 वह रहस्यमयी विमान दुर्घटना: परिस्थितिजन्य साक्ष्य क्या कहते हैं? :- आइये जाने !

मोहब्बत के शे'र लाइए और जीतिए नगद पुरस्कार ... :- और जो शेर जंगल के हो तो ....???

“बेजुबानों में जुबानें भी आ गईं..” (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री “मयंक”) :- सुनने सुनाने को कुछ और दस्ताने आ गयी !

अश्क यूँ बहते नहीं :- कुछ दर्द भी हुआ करते है !

मेरी वो किताबें … मेरी कविता.. विवेक रस्तोगी :- कहाँ गई ?

पायाति चरक – एक (अ) साधारण व्यक्तित्त्व :- हम्म !

रहस्यमयी :- है कौन ?

..लखनऊ के ब्लॉगर्स में जीवंतता अभी बची हुई है। :- गनीमत है !

हमें कोई तो सुधारे !!!! :- पंगा कौन ले !?

हमारे संस्कार अभी भी जीवित हैं-- धन्य हैं ऐसे माता-पिता ! :- सच है !

आनंद में ज़्यादा नहीं सूझता :- तो कम से काम चलाइए !

कॉमनवेल्‍थ की चकाचौंध की अंधेरी तलछट :- देखी किसी ने ?

अच्छा ... आप भी न ... :- अब क्या कहें ?

दो रोटियों के बीच :- भूख है !

बगुला :- भगत !

मारो स्साले को जूता... याने कि जुतियाना :- पर हुआ क्या ??

सोसल नेटवर्किंग :- कितनी सोसल है ?

चलती का नाम गाड़ी ब्लॉग दैनिक हिन्दुस्तान में :- बधाइयाँ जी बधाइयाँ !

हाल बुरा है... कविता :- देश का !

दैनिक हिन्‍दुस्‍तान ने स्‍वीकारा : चलती का नाम गाड़ी : ललित शर्मा की कलाकारी :- यह है हिंदी की महिमा सारी !

छः अक्तूबर!! :- को क्या हुआ ?

किसी का दर्द जो समझे...........रानीविशाल :- वही इंसान है !

क्या हमारे सिस्टम की ये लापरवाही माफ़ी के लायक है - - - - - -mangopeople :- आप बताये !

बावर्ची फिल्म का राजेश खन्ना लाइफ में मांगता :- खाना बनवाना है क्या ?

वियतनाम यात्रा पार्ट-1 :- पार्ट २ कब आ रहा है ?

आज की जनधारा में 'सर्प दंश से कैसे बचें?' :- बहुत खूब !



लीजिये अब हमारी डफली भी सुनिए ..... किसी के भरोसे क्या रहना .... खुद ही बजा रहे है !

करो चापलूसी.........मगर ध्यान से !! :- समझे !

-------------------------------------------------------------------------------------------------
आज की ब्लॉग वार्ता बस यहीं तक ....... अगली बार फिर मिलता हूँ एक और ब्लॉग वार्ता के साथ तब तक के लिए ......
जय हिंद !!

25 टिप्पणियाँ:

बढ़िया जोड़ का तोड़..सही है. बधाई.

बेहतरीन चर्चा....

राम राम शिवम भाई - धन्यवाद मेरे लेख को शामिल करने के लिए - आज अभूत दिनों बाद इधर आना हुआ और इतने बढ़िया लिंक देखकर मन खुश हो गया !

बढ़िया वार्ता !
ब्लोगरज़ूम नाम के विजेट को हटाया जाय , उसे हमारे कंप्यूटर के सुरक्षा अधिकारी आतंकी (वाइरस) बता रहे है |

आज की वार्ता तो बहुत हो रोचक लगी...लिंक बहुत ही विविधता लिए हुए है...मज़ा आ गया

वाह शिवम् भाई, बढ़िया वार्ता....

बहुत बढिया शिवम जी .. आभार !!

अच्छी चर्चा में मुझे शामिल करने के लिए बहुत अच्छा धन्यवाद !

बढ़िया लिंक दिए हैं शिवम् भाई ...दिल्ली आने से ठीक पहले सूचित अवश्य कर देना ! शुभकामनायें !

बहुत ही सुन्‍दर चर्चा, आभार ।

बहुत सुन्दर रही आज की ब्लॉग4वार्ता की चर्चा!

काफ़ी लिंक्स मिले ……………।बहुत सुन्दर चर्चा।

बहुत बढ़िया चर्चा ढेर सारें अच्छे लिंक मिले ....

अच्छा संकलन है शिवम भाई ...अब स्टाईल में थोडे प्रयोग भी करें और मजा दोगुना हो जाएगा । शुभकामनाएं

सतीश भाई साहब .... आपको सही समय पर सूचित करूँगा निश्चिन्त रहिये.....मैं भी काफी उत्सुक हूँ आप सब से मिलने के लिए !!

अजय भाई, प्रयोग तो मैं भी करना चाहता हूँ पर एक तो समय कम रहता है और दूसरा यहाँ नेट की स्पीड भी कुछ खास नहीं है इस लिए मन मार कर रह जाता हूँ और आप सब की वैसी खातिर नहीं हो पाती है जैसी होनी चाहिए ! कोशिश यही रहती है कि आप सब को पढने के लिए कुछ ना कुछ नया दे सकू ! अब यह तो आप ही बता सकते है कि मेरी कोशिश कितनी सफल रहती है ! आभार आपका मार्गदर्शन के लिए !

आप सब का बहुत बहुत आभार !

अच्छे लिंक्स मिले

बढिया वार्ता लगाई शिवम जी आपने।
अब शायद सोमवार से मैं नियमि्त हो पाऊंगा।

आभार

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी में किसी भी तरह का लिंक न लगाएं।
लिंक लगाने पर आपकी टिप्पणी हटा दी जाएगी।

Twitter Delicious Facebook Digg Stumbleupon Favorites More